Breaking News

मौरा : नदी में नहीं है पानी, बढ़ गई छठ व्रतियों की परेशानी

{मौरा (गिद्धौर) | संजीवन कुमार सिंह} Edited by- Abhishek Kumar Jha.

सुखाड़ग्रस्त घोषित हो चूके जमुई जिले में इस वर्ष प्रर्याप्त मात्रा में बारिश नहीं होने के कारण अधिकांश नदियां, तालाब,आहर, पोखर का पानी सूख गए हैं। इसको लेकर आस्था और विश्वास का महापर्व छठ पूजा में इस बार छठ व्रतियों के लिए सूर्यदेव को अर्घ्य देने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।



जी हाँ, हम बात कर रहे हैं गिद्धौर प्रखंड के लगभग 8000 की आबादी वाले मौरा पंचायत की जहां के सभी लोग बरनर नदी में छठ की अर्घ्य देने के लिए एकत्रित होते हैं। लेकिन इस बार नदी में पानी नहीं होने के कारण छठ व्रतियों की चिंता बढ़ गई है। मौरा पंचायत के अधिकांश ग्रामीण बताते हैं कि नदी में पानी की ऐसी स्थिति हमलोगों ने कभी नहीं देखा। वहीं छठ करने वाली कुछ महिलाएं बताती हैं कि हमलोग कार्तिक माह में पूरे महीने कार्तिक स्नान अपने छोटी गंगा कहलाने वाली बरनार नदी में हर साल करते थे, जो पानी के आभाव के कारण इस वर्ष संभव न हो सका। ग्रामीणों ने पंचायत प्रतिनिधि से खुदाई अथवा जेसीबी का सहारा लेकर नदी में पानी उपलब्ध कराने की मांग की ताकि आस्था के इस महापर्व में कोई बाधा न आ सके।