Breaking News

झाझा : 3 माह से नहीं हुआ वेतन भुगतान, हड़ताल पर गए नगर पंचायत के कर्मचारी

झाझा/जमुई (सुशांत सिन्हा) : झाझा नगर पंचायत के कर्मचारी 1 नवम्बर से हड़ताल पर हैं. हड़ताल का कारण यह है कि इन कर्मियों को इस वर्ष अगस्त से अक्टूबर यानि तीन माह का वेतन नहीं मिला है.

आवेदन में लिखा - भुखमरी के कगार पर परिवार
इस मामले पर नगर पंचायत झाझा के कर्मचारियों ने नगर पंचायत के अध्यक्ष एवं कार्यपालक पदाधिकारी को एक आवेदन सौंपा है. उक्त आवेदन में कर्मियों ने अपनी दयनीय स्थिति और और परिवार के भुखमरी के कगार पर पहुँचने की बात बताई है.

वेतन भुगतान के आग्रह पर मिला आश्वासन, बच्चों का नाम स्कूल ने काटा
कर्मचारियों ने लिखा है कि नगर पंचायत झाझा से कई बार वेतन भुगतान हेतु आग्रह भी किया गया लेकिन इसके एवज में केवल आश्वासन मिला, लेकिन वेतन नहीं मिला.

कर्मियों ने अपने हालात बयां करते हुए लिखा है कि विगत तीन माह से वेतन नहीं मिलने की वजह से उनके बच्चों के स्कूल की फीस ससमय जमा नहीं हो पाने के कारण स्कूल से नाम काट दिया गया है.

दुर्गापूजा बीता, दिवाली-छठ सर पर, हड़ताल ही रास्ता
नगर पंचायत झाझा के कर्मियों ने अपना दुखड़ा सुनते हुए इस बात का भी जिक्र किया है कि दुर्गापूजा बीत गया लेकिन वेतन भुगतान नहीं हुआ और अब दिवाली-छठ जैसे पर्व भी सर पर हैं ऐसे में हड़ताल पर जाना ही एकमात्र रास्ता बचा है. हम सभी कर्मचारी तीन माह से वेतन नहीं मिलने के कारण हड़ताल करने पर विवश हैं.

सूर्यावत्स का समर्थन, कहा - अतिशीघ्र हो वेतन भुगतान
कर्मचारियों ने इस बात की भी चेतावनी दी है कि 1 नवम्बर से शुरू हुई यह हड़ताल बकाया वेतन के पूर्ण भुगतान न होने तक जारी रहेगी.

इस हड़ताल को स्थानीय गांधीवादी विचारधारा के सामाजिक कार्यकर्ता सूर्यावत्स ने भी अपना समर्थन दिया है. सूर्यावत्स ने हड़ताल कर रहे कर्मचारियों के साथ झाझा नगर पंचायत भवन के सामने जोरदार तरीके से वेतन भुगतान अतिशीघ्र किये जाने की मांग को दोहराया.