Breaking News

जमुई : कानू हलवाई समिति की समीक्षा बैठक सम्पन्न, 18 नवम्बर को गाँधी मैदान से भरेंगे हुंकार

[न्यूज डेस्क | दयानन्द साव]:
कानू हलवाई चेतना रैली के तैयारी हेतु शुक्रवार को शिल्पा टेंट हाउस, जमुई में समीक्षा बैठक का आयोजन रखा गया. इस बैठक की अध्यक्षता सीताराम साह ने किया. बैठक को सम्बोधित करते हुए राधाचरण साह, विधान पार्षद ने कहा कि सदियों से कानू हलवाई जाति का राजनैतिक शोषण होते आ रहा है. अब हम चुप नहीं बैठेंगे, हम अपने अधिकार को एकता के बल पर लेकर रहेंगे. बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश संरक्षक नन्द कुमार उर्फ नन्दू बाबु ने कहा कि जबतक हमारे समाज को राजसत्ता में उचित हिस्सेदारी नहीं मिलती तब तक हमारा संघर्ष चलता रहेगा. 18 नवम्बर 2018 को गाँधी मैदान, पटना मे होनेवाली ऐतिहासिक रैली से हमारे हक को छिनने वाली राजनैतिक दलों को करारा जवाब मिलेगा.
रैली तैयारी समिति के प्रदेश सह संयोजक गोपाल प्रसाद गुप्ता ने कहा कि जब तक कानू हलवाई को अनुसूचित जाति मे शामिल नहीं किया जाता तब तक यह आन्दोलन चलता रहेगा; उन्होंने आगे कहा कि देश की वर्तमान परिस्थितियों में जो समाज या जाति साथ और संगठित है वहीं समाज आज राजसत्ता में अपनी हिस्सेदारी पा सका है और इसी के बदौलत उस समाज के लोग शांति से शैक्षणिक, आर्थिक एवं सामाजिक रूप से आगे बढ़ रहे हैं, चिन्ता की बात है कि हमारे समाज की आबादी लगभग 7% है फिर भी आबादी के हिसाब से राजसत्ता में हमें हिस्सेदारी नहीं मिल पाई है. जिसके चलते हमारा समाज काफी पिछड़ा हुआ है. श्री गुप्ता ने कहा कि अब "वोट हमारा, राज तुम्हारा" नहीं चलेगा, ये पटना की रैली में 18 नवम्बर को साबित हो जायेगा. सभा को सम्बोधित करते हुए रैली तैयारी समिति के सदस्य, जदयू व्यवसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव, राष्ट्रीय कानू शक्ति के अध्यक्ष एवं युवाओं के चहेते श्री गणेश साव कानू ने कहा कि सत्ता में भागीदारी के लिए हमें हर हाल में एकजुट रहना होगा क्योंकि एकजुटता के कारण ही हमसे कम जनसंख्या प्रतिशत वाले लोग हमेशा सत्ता की चाबी पाने में सफल रहे हैं.
आयोजन को प्रदेश के प्रो. सुरेश प्रसाद, भोला गुप्ता, मसुदन प्रसाद कानू, गणेश कानू, रामानन्द गुप्ता, गुड्डू जी, अनिल कु. अनल, वीरबहादुर गुप्ता ने सम्बोधित करते हुए पटना में होनेवाली रैली को सफल बनाने की अपील की.उक्त बैठक में सीताराम साह, केदार साह, विपिन साह, नगर परिषद सदस्य जमुई; शैलेश कुमार साह, अरविन्द साह, पूर्व मुखिया सह मुखिया पति, मनोहर गुप्ता, शिवसागर साह, मणि साह, बब्बन गुप्ता सहित कानू समाज के दर्जनों नेतागण और लोग उपस्थित थे.