Breaking News

पटना : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने किया अपोलो डायग्नोस्टिक्स का शुभारंभ



पटना (अनूप नारायण) :  अपोलो डायग्नोस्टिक्स ने बुधवार को सगुना मोड़, दानापुर, पटना में अपनी क्षेत्रीय रेफ्रेन्स लैब का शुभारंभ किया। लैब का शुभारंभ बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने फीता काटकर किया। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में हेल्थकेयर में ज्यादा निजी निवेश की जरूरत है और मुझे बहुत ही हर्ष हो रहा है कि इस दिशा में पहल करते हुए अपोलो ने पटना में अपनी लैब शुरू की है। उन्होंने कहा की अपोलो द्वारा बीपीएल कार्ड धारकों के लिए सभी टीबी परीक्षणों पर 50 प्रतिषत छूट के परिचयात्मक प्रस्ताव का स्वागत करता हूँ जिससे गरीब लोगों की वित्तीय बोझ को कम करने में मदद मिलेगी ।

नीरज गर्ग, सीईओ-अपोलो हेल्थ लाइफस्टाइल ने अपोलो डायग्नोस्टिक्स लैब के बारे में बात करते हुए बताया कि किस तरह कंपनी ने इस लैब में नवीनतम तकनीकों में निवेश किया हैए जिसमें एक हाई-एंड टीबी टेस्टिंग मशीन है  जेनएक्सपर्ट जिसमें दवा प्रतिरोधी टीबी का पता 1 दिन में लगा सकते हैं जबकि पहले वाले प्रोसेस में 7 से 42 दिन लग जाते थे। उन्होंने कहा की बिहार के लोगों की जरूरतों को विशेष रूप से पूरा करने के लिए पटना में लैब स्थापित की गई है ।

रवींद्र कुमार, सीओओ-अपोलो डायग्नोस्टिक्स, ने बताया कि अपोलो डायग्नोस्टिक्स में एलिसा परीक्षण मशीन डेंगू की पुष्टि और सही निदान देने में सक्षम होगी। यह तकनीक वर्तमान में सरकारी प्रयोगशालाओं में काफी हद तक उपलब्ध है पर निजी प्रयोगशालाओं में कम सटीक डेंगू कार्ड परीक्षण का उपयोग होता है ।