Breaking News

AAP का आरोप CM नीतीश के करप्शन से बिहार बना गरीबी में नम्बर-1


पटना (अनूप नारायण)
: आम आदमी पार्टी ने राज्य की गरीबी के लिये सरकारी विभागों में चल रहे सुनियोजित भ्रष्टाचार को जिम्मेवार बताया है। पार्टी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि किसी भी विभाग में घुस दिये बगैर कोई काम नहीं होता। प्रत्येक कार्य के लिये ऊपर के नेता-अफसरों से लेकर नीचे के क्लर्क-किरानियों तक का परसेंटेज फिक्स्ड है। भ्रष्टाचार पर कार्रवाई सिर्फ विरोधियों को दबाने-निबटाने के उद्देश्य से ही किया जाता है।
पार्टी ने सरकार के मुखिया नीतीश कुमार पर 'बहार' का सपना दिखाकर गरीबों को लूटने का भी आरोप लगाया।
पार्टी के मीडिया प्रभारी धनंजय कुमार सिन्हा ने कहा कि यूनाइटेड नेशंस डेवलपमेंट प्रोग्राम और ओपीएचआई की ताजा रिपोर्ट के अनुसार देश के 29 राज्यों में गरीबी के मामले में बिहार नंबर वन पर है। उन्होंने कहा कि जो परिणाम आया है, वह खुद-ब-खुद बयां कर रहा है कि सरकार ने गरीबों के लिये कुछ भी नहीं किया।
धनंजय ने कहा कि राज्य सरकार के प्रत्येक विभाग के मुख्यालय से लेकर ब्लॉक ऑफिस तक सुनियोजित तरीके से भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है। इसी कारण योजनाओं का ज्यादातर पैसा नेता-अफसरों एवं ठेकेदारों के पॉकेटों में सिमटकर रह जाता है और गरीबों तक लाभ नहीं पहुँच पाता है। यही कारण है कि गरीब और भी अधिक गरीब होते चले गये एवं काफी संख्या में मध्यम श्रेणी के लोग भी गरीबी के दायरे में चले गये। जिसके कारण आज देश के 29 राज्यों में बिहार सबसे अधिक गरीबी के हालात में पहुँच गया।
सिन्हा ने व्यंग्य करते हुये कहा कि राज्य में सुनियोजित भ्रष्टाचार का नेतृत्व करने के उपलक्ष्य में ही यूनाइटेड नेशंस की संस्थाओं ने राज्य के मुखिया को "गरीबी में नम्बर वन" का खिताब दिया है।