Breaking News

झाझा : राणी सती दादी के मंगल पाठ में जुटीं महिलाएं, माता का हुआ अलौकिक श्रृंगार

झाझा/जमुई (सुशान्त सिन्हा) : प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी झाझा स्थित सत्यनारायण मंदिर में रविवार को धूमधाम से राणी सती दादी के मंगल पाठ का आयोजन किया गया. मंगलपाठ की अगुआई इस वर्ष बराकर के शशि शर्मा के मधुर संगीत से हुई.

झाझा के श्री सत्यनारायण मंदिर परिसर में ही स्थित राणी सती दादी मंदिर में मंगलपाठ को लेकर स्थानीय महिलाओं में गजब का उत्साह देखा गया. मारवाड़ी समाज की महिलाओं ने राणी सती दादी का मंगल पाठ किया.
माता की ज्योत के साथ माता का भव्य एवं अलौकिक श्रृंगार एवं छप्पन भोग ने लोगों का मन मोह लिया. पूजन कार्यक्रम पंडित नवीन ओझा द्वारा संपन्न कराया गया. इसके अलावा मंदिर प्रांगण में सवामनी प्रसाद का वितरण किया गया.
मंगल पाठ के सदस्यों ने बताया कि शनिवार की रात्रि से इस मंदिर में रानी सती दादी के दो दिवसीय मंगल पाठ को लेकर भजन-कीर्तन का आयोजन किया गया था, जिसमें कोलकाता के अमोल परासर के अलावा स्थानीय कलाकारों ने एक से बढ़कर एक गीत प्रस्तुत कर माहौल को भक्तिमय बना दिया.

शनिवार को भजन संध्या की शुरुआत गणेश वंदना से की गई. रात भर चले इस भजन में कोलकाता से आए गायक ने राणी सती देवी के आराधना में भजनों की प्रस्तुति दी. बाहरी गायकों के अलावा स्थानीय गायकों द्वारा भी दादी के दरबार में भजन की अमृतवर्षा की गई.
सदस्यों ने बताया कि इस मंगलपाठ में सौ से अधिक महिलाओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज कर घंटों मंदिर में बैठकर मंगलपाठ किया. दादी की कुल माता जयपुर के झुनझुन में अवस्थित है. कार्यक्रम की समाप्ति के बाद भंडारा का आयोजन किया गया.

वर्षों से भादो की अमावस्या को जालान भिला में राणी सती दादी के भव्य भजन संध्या का आयोजन होता आ रहा है. कार्यक्रम को सफल बनाने में दर्जनों सदस्य लगे हुए थे.