Breaking News

सिमुलतला : धधक रही है कच्ची शराब की अवैध भट्टियां, पुलिस बनी मूकदर्शी

{सिमुलतला | बीरेन्द्र कुमार} Edited by -Abhishek Kumar Jha.

एक ओर जहां सूबे के मुखिया शराबन्दी कानून को लेकर बड़े बड़े दावे करते हैं, वहीं इसके इतर सिमुलतला थाना क्षेत्र के कई गांवों मे खुले आम शराब माफिया द्वारा झारखंड के जसीडीह से शराब को लाकर क्षेत्र में अपनी पैठ जमा रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि क्षेत्र के विभिन्न गांवों में स्वंय शराब  बनाकर अवैध तरीके से बेचते हुए देखा गया है,जिनकों संरक्षण स्थानीय पुलिस दे रही है।
आलम यह है कि बिना किसी प्रशासनिक रोक-टोक के शराब बेचने के लिये खुले आम क्षेत्र के चौक चौराहों एवं रेलवे स्टेशन के बगल में बेचा जा रहा है।जबकि स्थानीय प्रशासन मूक दर्शक बना बैठा है। इधर पुलिस अपना औपचारिकता पूरा करने के लिये कभी-कभी किसी को शराब की धाराओं में पाबन्द कर अधिकारियों की थपथपी ले लेते हैं, वहीं क्षेत्र में बन रही शराब से पियक्कड़ों की संख्या में भी बढोत्तरी हो रही है। इतना ही नहीं शराब पीकर सड़क पर हुड़दंग भी करते है लेकिन पुलिस शराबी कह कर छोड़ देती है।
बताते चलें कि, सिमुलतला क्षेत्र के अलगजारा, कल्याणपुर, सलखोडीह, गोपलामारन,  आदि दर्जनों गांवों में अवैध कच्ची शराब की भट्टियां धधक रही है।  लेकिन स्थानीय पुलिस अपना हिस्सा ले लेती है वहीं कभी-कभी आबकारी टीम भी आती है तो भी ये भट्टियां क्यूँ नही पकड़ी जाती, ये सवाल स्थानीय ग्रामीणों की जुबान पर है।
विदित हो, जमुई जिले के पुलिस कप्तान का अपने मतहतो को यह निर्देश है कि कहीं पर भी अवैध कच्ची शराब की बिक्री न हो और न बनायी जाये, लेकिन पुलिस अपने अधिकारी के आदेश को दरकिनार कर कोई कार्यवाही नहीं करती है। हां इतना जरूर होता है कि जब अधिकारियों का आदेश होता है तो एक दो लोगों पर अवैध कच्ची शराब में पाबन्द कर इतिश्री कर ली जाती है। जबकि यह सत्य है कि अगर स्थानीय पुलिस कार्यवाही करें तो शराब भट्टियों पर अंकुश लगेगा लेकिन स्थानीय पुलिस पता नही क्यों कार्यवाही नही करती है। क्षेत्र  में शराब की इस तरह मण्डी सजती है जैसे कोई खास सामान बिक रहा हो दिलचस्प बात यह है कि इसकी बिक्री के लिए  तो महिलाएँ आती है या तो युवतियां आती है।
विश्वस्त सूत्रों से पता चला कि शुक्रवार को सिमुलतला पुलिस ने टेलवा एवं लहाबन स्टेशन के निकट से करीब 50 लीटर महुआ शराब बरामद किया गया है, जिसमे  एक भी व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं किया गया है। आश्चर्य की बात है कि सिमुलतला थानाध्यक्ष अमित कुमार शराब बरामदगी की बात तो कबूल किया लेकिन इस संदर्भ में कुछ बताया नहीं।