Breaking News

धोरैया : कुपोषणमुक्त समाज के बिना देश का विकास संभव नहीं

[धोरैया(बांका) | अरुण कुमार गुप्ता]
प्रधानमंत्री द्वारा चलाये गए राष्ट्रीय पोषण अभियान को लेकर सोमवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित सभा भवन में प्रखंड स्तरीय पोषण मेले का आयोजन किया गया। जिसका विधिवत शुभारंभ जिला कार्यक्रम पदाधिकारी रिफत अंशारी एव अंचलाधिकारी बीरेन्द्र कुमार,सीडीपीओ कुमारी हेमा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।
इस मौके पर उपस्थित सेविका सहायिका एव पोशक क्षेत्र के लाभार्थियों को संबोधित करते हुए डीपीओ ने कहा कि जब तक बच्चे कुपोषण मुक्त नही होंगे तब तक देश का विकास नही हो सकता।ऐसे में कुपोषण विकास का सबसे बड़ा बाधक है, जिसे देख प्रधानमंत्री ने इस अभियान की शुरुआत कर लोगो को कुपोषण के प्रति जागरूक करने का काम किया है। डीपीओ ने महिलाओ से अपने बच्चे और गर्भवस्था के दौरान पोस्टिक आहार लेने की बात कही। उन्होंने कहा कि कुपोषण में बांका बिहार के आठवे स्थान पर है। इसके समाप्ति को लेकर इसे जनआंदोलन का रूप दिया जाएगा, ताकि कुपोषण मुक्त बिहार बनाया जा सके। डीपीओ ने कहा कि सेविकाएं अपने अपने पोशक क्षेत्र में खुले में शौच करने वाले घरो के लोगो को इससे बच्चो में फैल रही बीमारी के बारे में बताए जिससे लोग जागरूक होकर शौचालय निर्माण करते हुए  उसका उपयोग करे। वही सीओ ने कुपोषण पर चर्चा करते हुए कहा कि महिलाए खान पान में दाल,हरी शक सब्जी,फल,दूध आदि का सेवन करते हुए साफ सफाई पर विशेष ध्यान रखे ताकि गंदगी से बच्चो में फैल रहे कुपोषण को रोक जा सके। वही सीडीपीओ ने अपने संबोधन‌‌ में कहा कि कुपोषण के कारण बच्चो का वजन कम होना,बौना, मातृ एव शिशु मृत्यु पर रोक तभी लगेगा, जब महिलाओं में जागरूकता आएगी। माँ अपने बच्चो को 6 महीने के बाद उपरी आहार अवश्य दे जिससे बच्चे का शाररिक विकास हो सके।
पोषण मेले में कुरमा गांव के सोनम एव संध्या रानी,रणगांव बुजुर्ग के सुमैया खातून,तौशिफ जैसे 6 माह के बच्चे का अन्नप्रासन कराया गया। वही बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ,जिस घर मे शौचालय नही,वहां बिटिया शादी को तैयार नही आदि जैसे लघु नाटिका की प्रस्तुति सेविका द्वारा किया गया, साथ ही कुपोषित बच्चो को एनसीआर केंद्र बांका से मिलने वाले लाभ की जानकारी दी गई। कुपोषण मेले में आंगनबाड़ी केंद्र पर मिलने वाले गर्भवती,धात्री,कुपोषित अति कुपोषित को मिलने वाले टीएचआर का प्रदर्शनी लगाया गया, जिसका निरीक्षण डीपीओ ने करते हुए व्यवस्था को देख संतोष जताया।
इस मौके पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ श्यामसुन्दर दास,सीडीपीओ कुमारी हेमा,जीविका के बीपीएम जितेंद्र चौरसिया, पूर्व उपप्रमुख असलम खान,महिला पर्यवेक्षिका शबनम कुमारी,रूपतारा देवी,चंदा कुमारी,इसरत तारा,रंजना कुमारी,उप प्रमुख पति संजीव सिंह आदि उपस्थित थे।