Breaking News

भोजपुरी फिल्मों की जान बन गई हैं भागलपुर की स्मृति सिन्हा

[पटना]    ~अनूप नारायण
अपने करियर की शुरुआत थियेटर से करने वाली भागलपुर की स्मृति सिन्हा इन दिनों भोजपुरी फिल्मों की जान बनी हुई हैं। उन्होंने फिल्म 'रंगीला बाबू' से अपनी पारी की शुरुआत की थी। आगे 'शादी-बियाह', 'प्यार बिना चैन कहा रे', 'साजन चले ससुराल', 'देवरा पे मनवा डोले', 'सौगध गगा मइया के' आदि बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई थीं। स्मृति अभी कई बड़ी फिल्मों में बड़े अभिनेताओं के साथ काम कर रही हैं।
नई फिल्म' में आपका रोल क्या है?
इस फिल्म के बारे में तो मैं नहीं बता सकती, लेकिन मेरा रोल इसमें बेहद दमदार है। यह मेरे पिछले सभी निभाए किरदारों से हटकर है। मैं रोल पाकर खुश हूं और मुझे इससे लोगों की शाबाशी जरूर मिलेगी। 'लाल दुपत्र मलमल का' और 'अंतिम ताडव' में भी मैं काम कर रही हूं। इनमें भी मेरी भूमिका अलग है।
आपकी लगातार तीन फिल्में सफल हुई हैं। कैसा महसूस हो रहा है?
अच्छा लग रहा है। सच कहूं तो मैं दर्शकों की आभारी हूं, उन्होंने मेरी फिल्मों को पसद किया। वैसे किसी भी फिल्म में कलाकार तो अपना बेस्ट देते ही हैं, लेकिन फिल्म सफल होगी यह जरूरी नहीं। दर्शकों ने मेरी फिल्म को पसंद किया और मुझे भी, तो मैं खुश हूं। इससे मेरा मनोबल बढ़ा है।
आपकी कई फिल्में हिट हुई पर उनका श्रेय आपको नहीं मिला। कैसा लगा यह जानकर?
मैंने कभी इस बारे में नहीं सोचा। फिल्म अगर सफल होती है, तो उसका फायदा सभी को मिलता है। मैं इसी बात से खुश हूं और आगे भी सिर्फ अपने काम पर ध्यान दूंगी।

भोजपुरी फिल्मों की हीरोइनें शो पीस मानी जाती हैं। आप क्या कहती हैं?
ऐसी बात नहीं है। फिल्मों की नायिकाएं शो पीस बिल्कुल नहीं होतीं। उनका अपना काम होता है, कहानी में अहमियत होती है। मैं मानती हूं कि नायिकाओं को इधर कुछ फिल्मों में ऐसे रोल मिल रहे हैं जो शो पीस वाले होते हैं, लेकिन मैं ऐसा कभी नहीं करती। अगर रोल में दम नहीं होगा, तो मैं उसे नहीं करूंगी।
अब फिल्मों में बोल्ड सीन रखने का भी चलन हो गया है। आप क्या कहेंगी?
यहां मैं अपनी बात कहना चाहूंगी। दूसरे की बात मैं नहीं करती। मेरी किसी फिल्म में बेमतलब के बोल्ड सीन नहीं थे। न ही मैं भविष्य में ऐसा करूंगी। मैं मानती हूं कि फिल्मों को हिट कराने के लिए निर्माता बोल्ड सीन रखते हैं। मैं उन ऐसी फिल्मों का मसाला नहीं बनूंगी।

आपकी आने वाली फिल्में?
खेसारी लाल के साथ ' और विराज भट्ट के साथ 'अंतिम ताडव' और 'दूध का कर्ज' मेरी आने वाली फिल्में हैं।