Breaking News

लोस चुनाव 2019 में BJP आजमाएगी T-20 फाॅर्मूला

[न्यूज डेस्क l शुभम् कुमार]
लोकसभा चुनाव-2019 में फिर अपनी सत्ता को कायम रखने के लिए भाजपा ‘टी-20’ फॉर्मूला आजमाएगी. आपको बता दें कि ये क्रिकेट वाला टी-20 नहीं है, इस T-20 प्लान का मतलब है, एक कार्यकर्त्ता 20 घरों में जाकर चाय पिलाएगा और मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी उन घरों के सदस्यों को देगा. टी-20 के अलावा भाजपा ने 'हर बूथ दस यूथ', नमो ऐप सम्पर्क पहल एवं बूथ टोलियों के माध्यम से मोदी सरकार की उपलब्धियों को घर-घर पहुंचाने का कार्यक्रम तैयार किया है. भाजपा ने अपने पार्टी कार्यकर्त्ताओं से कहा गया है कि वे अपने क्षेत्र के प्रत्‍येक गांव में जाएं और कम से कम 20 घरों में जाकर चाय पिलाएं. इस 'टी-20' पहल का सीधा मतलब जनता से सीधे संवाद स्थापित करना है.
उल्लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी ने आक्रामक प्रचार शैली अपनाई थी. इसमें खास तौर पर सूचना तकनीक माध्यम का उपयोग किया गया था. इसका खास आकर्षण 3-डी रैलियों का आयोजन था जिसमें एक ही समय में कई स्थानों पर बैठे लोगों के साथ एक साथ जुडऩे की पहल की गई थी. सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को जोडऩे और चाय पर चर्चा की पहल भी की गई थी. इस बार भाजपा अपने उस अभियान को और व्यापक स्तर पर ले जाना चाहती है, इसलिए भाजपा ने बूथ स्तर के लिये एक विस्तृत रणनीति बनाई है, जिसमें पार्टी कार्यकर्त्ताओं से कहा गया है कि वे नरेंद्र मोदी ऐप से अधिकाधिक लोगों को जोड़ें. पार्टी सूत्रों ने बताया कि अगले सप्ताह नरेंद्र मोदी ऐप का नया प्रारूप आने वाला है, जिसमें पहली बार कार्यकर्त्ताओं के कार्यों के संबंध में भी एक खंड होगा.
पार्टी ने प्रत्येक मतदान केंद्र पर 100 लोगों को नरेंद्र मोदी ऐप से जोडऩे का लक्ष्य निर्धारित किया है. मोर्चों के प्रमुख कार्यकर्तापार्टी के वरिष्ठ नेता ने बताया हमें समाज के हर वर्ग के सदस्यों को पार्टी से जोड़ना है. पार्टी कार्यकर्त्ताओं से 'घर-घर दस्तक' अभियान पर भी तेजी से अमल करने को कहा गया है, जिसमें कार्यकर्ताओं कि टोली हर रोज सुबह-शाम और छुट्टी वाले दिनों में घर-घर जाकर परिवारों से मिलेगी और लोगों को बताएगा कि विपक्ष के आरोप एवं सरकार के काम की हकीकत क्या है? देश पांच सालों में कहां पहुंच गया है और अगले पांच साल में क्या होगा?
अब जो भी हो ये आनेवाला समय ही बतायेगा कि आगामी लोकसभा के मध्य नजर भाजपा द्वारा लाया गया T-20 प्लान और जनसम्पर्क अभियान कितना कामगार साबित होता है.