Breaking News

चकाई : विश्व स्तनपान दिवस सप्ताह पर बोली DPO कविता कुमारी - मां का दूध बच्चों के लिए है अमृत

[चकाई |  श्याम सिंह तोमर] :-
बुधवार को सीडीपीओ कार्यालय के प्रांगण में विश्व स्तनपान दिवस सप्ताह के शुभारंभ के अवसर पर सभा का आयोजन किया गया। जिसका नेतृत्व चकाई सीडीपीओ प्रेरणा कुमारी ने की. इस अवसर पर वर्ल्ड विजन द्वारा स्तनपान कराने हेतु महिलाओं को जागरूक करने के लिये स्तनपान रथ को रवाना किया गया. जिसे मुख्य अतिथि आईसीडीएस डीपीओ जमुई कविता कुमारी द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया.

इसके अलावा आंगनबाड़ी सेविकाओं की एक रैली निकाली गई जो चकाई सीडीपीओ कार्यालय शुरू कर चकाई चोक से पुनः सीडीपीओ ऑफिस पहुंचकर रैली सभा में तब्दील हो गई. मौके पर मुख्य अतिथि आईसीडीएस जमुई डीपीओ कविता कुमारी ने महिलाओं और किशोरी बालिकाओं को स्तनपान से होने वाले फायदों और हानि की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि मां का दूध अमृत के समान होता है.

प्रसव के तुरंत बाद नवजात शिशु को स्तनपान करना चाहिए. मां के दूध पर बच्चे का पहला अधिकार होता है. नवजात शिशु के तुरंत बाद ही बच्चे को स्तनपान करना चाहिए. छह माह तक बच्चे को केवल स्तनपान ही कराया जाए एवं किसी प्रकार का कोई ऊपरी आहार न दें.उन्होंने कहा कि कुछेक महिलाएं बच्चे को जल्द ही दूध पिलाना बंद कर देती है जो ठीक नहीं है, क्योंकि बच्चे को यदि आहार नहीं मिलता है तो उसका प्रभाव बच्चे पर पड़ता है. इससे बच्चा शारीरिक रूप से कमजोर रहता है.
वहीं चकाई रेफरल अस्पताल प्रभारी रमेश प्रसाद ने कहा कि महिलाएं बच्चों को स्तनपान कराने में लापरवाही बरतती है.जबकि स्तनपान महिलाओं और बच्चों दोनों की सेहत के लिए आवश्यक है.उन्होंने कहा कि बच्चों में मां का दूध उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाता है. महिलाओं को बच्चों को स्तनपान अवश्य कराना चाहिए. बच्चे के जन्म के तुरंत बाद बच्चे को स्तनपान कराना चाहिए.गाढा पीला द्रव्य कोलोस्ट्रम बच्चों की सेहत के लिए अत्यंत आवश्यक होता है.
मौके पर चकाई सीडीपीओ प्रेरणा कुमारी, वर्ल्ड विजन कार्यक्रम प्रबन्धक कुणाल नायक, सीडीएफ विश्वास चन्द्र भारती, लाल बाबु कुमार, अभिषेक मंडल, के के थॉमस, सुनील लाकड़ा, प्रताप पानी, नारवत हेम्ब्रम, ब्लॉक हेल्थ मैनेजर रमेश पांडेय, कुंदन सिंह सहित सैकड़ों आंगनबाड़ी सेविका मौजूद थी.