Breaking News

पटना : प्रियंका सिन्हा बनी तीज क्वीन, साक्षी सलूजा मिस प्रिंसेज

[पटना]    ~अनूप नारायण : महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रही स्वंय सेवी संगठन (एनजीओ) अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन और पिंकिंश फाउंडेशन की ओर से आयोजित राजधानी पटना में हुये  तीज मेला सह फ्रेंडशिप डे का रंगारंग कार्यक्रम संपन्न हो गया।

श्रावण मास में शुक्ल पक्ष तृतीया को आस्था, उमंग, सौंदर्य और प्रेम का उत्सव हरियाली तीज और फ्रेंडसशिप डे के अवसर पर राजधानी पटना के गंगा रिसोर्ट में तीज मेला और फ्रेंडशिप डे का रंगारंग कार्यक्रम संपन्न हो गया। तीज मेला का आयोजन श्रीमती मनीषा दयाल, श्री चिरंतन कुमार, श्री निश्चल सिन्हा, श्रीमती निशा डिडवानिया, श्रीमती पूनम सलुजा, श्रीमती दीपिका चंदन, सुश्री देवजानी मित्रा और श्रीमती निशा सिंह के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

प्रियंका सिंन्हा तीज क्वीन बनी वहीं अर्चना एंजल फसर्ट रनर अप, श्वेता साही सेंकेड रनर और रागिनी कुमारी थर्ड रनर अप रही। साक्षी सलूजा को मिस प्रिसेज का ताज मिला। अजितेश आर्यन और तानया बेस्ट कपल और अर्चना एंजेल-अजितेश को फ्रेंडसशिप का अवार्ड दिया गया। विजेताओं को गिफ्ट-मोंमेंटो देकर सम्मानित किया गया।

मुख्य एसपौंसर एवोन तथा ऐसोशियेट एसपौसनर केक अफेयर के सौजन्य से आयोजित तीज मेला का उदृघाटन मुख्य अतिथी शिरकत करने आये  जाने माने चिकित्सक पद्मश्री श्री जीतेन्द्र कुमार सिंह ने किया कार्यक्रम की भव्य शुरूआत जानी मानी अभिनेत्री और डांसर सुश्री निहारिका के कत्थक डांस से शुरू हुयी। इसके बाद जानी मानी पार्श्वगायिका नीतु कुमारी नवनीत, शुभ्रा रानी ने अपनी आवाज के जादू से समां बांध दिया। कार्यक्रम के दौरान अर्चना कुमारी सुनीता कुमारी, श्वेता साही, सुश्री साक्षी सलूजा और रिया ने अपने डांस से लोगो का दिल जीत लिया। स्पेशल गेस्ट के तौर पर डा राणा संजय, डा अंशमुन, श्रीमती मधु मंजरी, प्रेम कुमार और श्रीमती इश्मीत चावला रही।

मिसेज इंडिया बॉडी फिटनेस श्रीमती वर्षा उपाध्याय की अगुवाई में आईग्लैम बिजनेस स्कूल के मॉडलों ने घरेलू हिंसा पर आधारित रैंप वाक के जरिये लोगों को मनोरंजन के साथ ही संदेश भी दिया। कार्यक्रम में जज के तौर पर सुमित रायचंद, ममता राय, यामिनी सिन्हा, श्वेता सिंह, खुशी सिंह, सोनल गुप्ता, स्मिता गुप्ता मौजूद थे जिन्होंने प्रतिभागियों की प्रतिभा को परखा।

कार्यकम के अंत में आगुंतक अतिथियो और जजों को बुके और मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन सुशी कौशिकी मिश्रा और सुश्री खुशबू भारती ने संयुक्त रूप से किया।

कार्यक्रम के आयोजको ने कहा कि महिलाएं अपने अधिकार को जानें..जब तक हम अपने अधिकार को समझेंगे नहीं, जानेंगे नहीं तब तक हम समाज में पीड़ित एवं असुरक्षित रहेंगे, लेकिन जब हम अपने अधिकारों को जान लेंगे तब हमें समाज में उचित स्थान प्राप्त होगा।

उन्होंने सभी महिलाओं को बधाई देते हुए कहा कि महिलाएं आत्मनिर्भर हो महिलाओं को किसी के भी सहारे की आवश्यकता न हो, वे अपने अधिकार एवं कर्तव्य को भली-भांति समझें और समाज में अपनी भूमिका को दुर्गा के रूप में प्रतिस्थापित करें। हिन्दू समाज में तीज पर्व का अलग महत्व है। यह पर्व शिव एवं पार्वती के मिलन का त्योहार है।

सौभाग्यवती स्त्रियां अपने सौभाग्य व सुख की इच्छा के लिए श्रद्धापूर्वक व्रत रखती हैं.इस विश्वास के साथ कि उनका सुहाग अखंड रहे. उनके पति दीर्घायु हों. इस दिन महिलाएं नये रंग-बिरंगे परिधान में श्रृंगार करके सम्मिलित रूप से भगवान शंकर-पार्वती की पूजा-अर्चना करती हैं.नारी में शक्ति होती है।

उन्हें अपनी शक्ति को पहचानने की जरूरत है। इस तरह आयोजनों से न सिर्फ महिलाओं को एक मंच में आने का बल्कि एक-दूसरे को भावनाएं समझने का भी मौका मिलता है। इस प्रकार के कार्यक्रम समाज में आपसी भाईचारे को बढावा देने का कार्य करते हैं। फ्रेडशिप डे के कार्यक्रम के आयोजन से आपसी संबधो में प्रगाढ़ता आती है।