Breaking News

रतनपुर : छात्र हरिओम हार गया जिन्दगी का जंग, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

[Gidhaur.com | फाॅलोअप] :-
जिन्दगी का जंग हारकर लौटे छात्र हरिओम का शव जब पैतृक गांव रतनपुर आवास स्थान पर पहुँचा, तो ग्रामीणों के आंखे आश्रुपुरित हो उठे।
अपने दरवाजे पर हरिओम का शव देखकर उनके परिजन चित्कार उठे। आखिर, मेरे हरिओम की क्या खाता थी ? आखिर इसने क्या बिगाड़ा था ? सोमवार को सात बजे शाम हरिओम का शव पैतृक गांव रतनपुर  पहुँचते ही ग्रामीण आक्रोशित हो उठे तथा मंगलवार की अहले सुबह 07 बजे ही एन-एच 333 रतनपुर-जमुई मुख्यमार्ग पर हरिओम के शव को रखकर सड़क जाम किया और सरकार से छात्र हरिओम की मौत पर मुआवजे तथा अपराधियों को अविलंब दंडित करने की मांग पर डटे रहे। 

इस घटना की खबर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को मिली तो वो तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और गिद्धौर थाना को इस मामले से संबंधित कई निर्देश देते हुए दोषियों को शीघ्र गिरफ्तारी करने की बात कही।
वहीं घटना स्थल पर डीएसपी ने ग्रामीणों एवं परिजनों को आश्वस्त करते हुए 72 घंटे के अंदर अभियुक्त को कोर्ट से वारंट जारी करवा गिरफ्तारी करने का आश्वासन देते हुए तकरीबन चार तक रहने वाले सड़क जाम को हटवाकर लगभग 11 बजे वाहनों परिचालन शुरू कराया।

इधर, घटना से पीड़ित परिजनों को BDO चिरंजीवी पाण्डेय ने  पारिवारिक लाभ योजना के तहत ₹20000 की राशि का भुगतान किया गया।
बता दें कि, शनिवार को क्रिकेट खेलने के दौरान आपसी विवाद को लेकर स्थानीय अविनाश, परवीन व दो अज्ञातों ने छात्र हरिओम को बेरहमी से पीटा गया था। उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए जिला अस्पताल द्वारा अविलंब चिकित्सकों द्वारा उपयुक्त इलाज के लिए पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया था इस दौरान इसकी मौत हो गई थी।

(अभिषेक कुमार झा)
न्यूज डेस्क |  03/07/2018, मंगलवार
www.gidhaur.com