Breaking News

हाल-ए-गिद्धौर रेलवे स्टेशन : अधिकारियों के आने पर होता है चमन, जाते ही बदल जाता है रंग

 
  [न्यूज डेस्क | अभिषेक कुमार झा]

एक ओर जहां भारत में स्वच्छ भारत अभियान चलाकर सरकार भारत को स्वच्छ बनाने में एड़ी चोटी एक कर रही है, वहीं दूसरी ओर दानापुर जोन अंतर्गत पड़ने वाले गिद्धौर रेलवे स्टेशन परिसर की स्वच्छता व्यवस्था लचर दिख रही है।
गिद्धौर रेलवे स्टेशन के दोनों प्लेटफाॅर्म पर यत्र-तत्र पड़ी गंदगी गिद्धौर स्टेशन के स्वच्छता पर सवाल खड़ी करती है। पर जब कभी रेलवे के उच्च अधिकारियों के आगमन की तिथि घोषित होती है तब गिद्धौर रेलवे स्टेशन स्टेशन व इसके प्लेटफाॅर्म की स्वच्छता देखते ही बनती है।
   
  • दोनों प्लेटफाॅर्म पर है एक-एक कूडेदान
हलांकि, विभागीय सहयोग से स्टेशन प्रबंधन द्वारा गिद्धौर रेलवे स्टेशन के दोनों प्लेटफाॅर्म पर कूड़ेदान उपलब्ध कराया गया है। लेकिन कुछ ग्रामीण इलाके के यात्री खाद्य पदार्थ व अन्य वस्तुओं को व्यवहार में लाकर कूडेदान में न डालकर प्लेटफाॅर्म पर ही उसके अवशेष को फेंककर प्लेटफाॅर्म पर गंदगी फैला देते हैं।
वहीं इसके विपरीत, शिक्षित यात्री गिद्धौर रेलवे स्टेशन पर पसरी गंदगी को देखकर विभागीय व्यवस्था को कोसते हुए देखे जाते हैं।
  •       मुंह पर रूमाल रख करते हैं ट्रेन का इंतजार
वहीं, गिद्धौर रेलवे स्टेशन से नियमित यात्रा करने वाले यात्री अपने नाम की गोपनीयता बनाते हुए बताते हैं कि, गंदगी से बजबजाती गिद्धौर रेलवे स्टेशन से गंदगी की दुर्गंध का हमें सामना करना पड़ रहा है। परिसर में जगह-जगह फैली गंदगी से संक्रामक बीमारी फैलने की भी आशंका है। इसके बावजूद भी प्रबंधन साफ-सफाई को लेकर गंभीर नहीं है। वहीं महिला यात्रियों की यदि मानें तो, उनका कहना है कि, रेलवे ट्रैक पर फैले शौच की दुर्गंध से स्टेशन पर रोजाना आने वाले हम जैसे महिला यात्रियों को अधिक परेशानी होती है। इससे हम महिला यात्री मुंह पर रुमाल रखकर ट्रेन का इंतजार करते हैं।

  •   यत्र-तत्र पसरी है गंदगी व पान की पीक
यात्रा करने वाले यात्रियों ने स्टेशन का कोई भी ऐसा कोना नहीं छोड़ा जहां उन्होंने गंदगी व पान की पीक नहीं फैलाइ हो। चाहे वो टिकट काउन्टर हो या वेटिंग हाॅल, प्लेटफाॅर्म हो या फूटब्रीज हर जगह पान की पीक व गंदगी ने अपना पांव पसार रखा है।
  •    प्रबंधन का हर प्रयास हो रहा विफल
प्रबंधन द्वारा गिद्धौर रेलवे स्टेशन पर साफ-सफाई, व स्वच्छता का हर संभव प्रयास किया जाता है। दोनों प्लेटफाॅर्म पर सफाई व्यवस्था कायम रखने के लिए दो सफाई कर्मचारियों को मुस्तैद रखा गया है। ये दोनों सफाई कर्मी समयंतराल में प्लेटफाॅर्म, पटरी, व स्टेशन परिसर के अन्य जगहों की नियमित रूप से सफाई करते हैं। पर कुछ यात्रियों के लापरवाही व अनदेखी के कारण प्रबंधन का हर प्रयास विफल हो जाता है।

  •     क्या कहते हैं स्टेशन मास्टर
गिद्धौर रेलवे स्टेशन की सफाई व्यवस्था के संदर्भ में पूछे जाने पर स्टेशन मास्टर ठाकुर दयाल सिंह ने बताया कि श्रावण माह को लेकर स्टेशन पर साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। सफाई कर्मचारियों से रेलवे ट्रेक व प्लेटफाॅर्म की नियमित सफाई कराई जा रही है। पर यात्रियों द्वारा कूडेदान का प्रयोग न करने से परिसर में गंदगी देखने को मिलती है।

  [रेल यात्रियों के लिए gidhaur.com की सलाह]
1.  कूडा-कचरा, खाद्य पदार्थों के अवशेष, अनुपयोगी वस्तु आदि को प्लेटफाॅर्म पर उपलब्ध कूडेदान में डालें
2. स्टेशन परिसर में यत्र-तंत्र गंदगी न फैलाएं
3. दीवार के कोने या सार्वजनिक स्थल पर पान, गुटखे की पीक न थूके।
4.  स्टेशन परिसर को साफ सूथरा रखने में प्रबंधन का सहयोग करें ।