Breaking News

दिनकर फिल्मसिटी बनाएगी देश की पहली बज्जिका फीचर फिल्म


Gidhaur.com:(बेगूसराय):- बिहार की पांच प्रमुख भाषा भोजपुरी,मैथिली,मगही, अंगिका और बज्जिका में "बज्जिका" को छोड़ बाकी सभी भाषाओं में फीचर फिल्म का निर्माण हो चुका है।जहाँ भोजपुरी भाषा की फिल्मों ने कीर्तिमान स्थापित किया तो मैथिली भाषा की फिल्में भी धीरे धीरे विकासोन्मुख है।अंगिका और मगही भाषा की फिल्में अभी संघर्ष के दौर से गुज़र रही हैं।इन बातों की जानकारी बेगूसराय में स्थापित बिहार की पहली "दिनकर फिल्मसिटी" के संस्थापक सह दर्ज़नभर हिंदी,भोजपुरी व मैथिली फिल्मों के चर्चित अभिनेता अमित कश्यप ने फिल्मसिटी के सभागार में प्रेसवार्ता के दौरान दी।उन्होंने कहा कि दिनकर फिल्मसिटी अब बिहार के लगभग  आठ करोड़ आबादी की लोकप्रिय भाषा बज्जिका में फ़िल्म निर्माण की तैयारी में जुट गई है जो इस भाषा के विकास में मील का पत्थर साबित होगी।कश्यप के अनुसार सबकुछ ठीक ठाक रहा तो इसी वर्ष फ़िल्म का निर्माण किया जाएगा और अगले वर्ष तक बिहार के लोग पहली बार इस भाषा की फ़िल्म को बड़े पर्दे पर देख सुन सकेंगें।

प्रेसवार्ता में उपस्थित बज्जिका भाषा के सुप्रसिद्ध साहित्यकार सह दक्षिण भारत हिंदी प्रचार संघ के जनसंपर्क पदाधिकारी ईश्वर करुण ने फिल्मसिटी के इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि इस भाषा मे फ़िल्म निर्माण होने से न सिर्फ भाषा का विकास होगा बल्कि बज्जिका भाषी लोगों का स्वाभिमान भी ऊंचा होगा।करुण के अनुसार बिहार में मुजफ्फरपुर,वैशाली,समस्तीपुर, सीतामढ़ी, शिवहर आदि जिलों की प्रमुख भाषा बज्जिका है और इन जिलों के लोग अपनी भाषा की फ़िल्म बनने का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं।कश्यप के अनुसार फ़िल्म के कथा, पटकथा, संवाद और गीतों की रचना की ज़िम्मेदारी ईश्वर करुण को ही दी गयी है।वरिष्ठ साहित्यकार चाँद मुसाफ़िर, सिने अभिनेता रंजीत गुप्त, दिनकर फिल्मसिटी के कार्यकारी निर्माता राकेश महंथ,पार्श्वगायक अजय अनंत,लघु फ़िल्म निर्देशक अरविंद पासवान,अभिनेता पंकज पराशर आदि ने भी संबोधित किया।बताते चलें कि प्रसिद्ध लोककथा रेशमा चौहरमल पर बनी हिंदी फीचर फिल्म "चौहर" से राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोर चुके अभिनेता अमित कश्यप बिहार की लोक संस्कृतियों पर फ़िल्म निर्माण के लिए चर्चित रहे हैं।हिंदी फीचर फिल्म जट जटिन,गुलमोहर,भोजपुरी फ़िल्म सईयां ई रिक्शावाला,तीज,टूटे न सनेहिया के डोर,मनवा के मीत, मैथिली फ़िल्म लव यू दुल्हिन आदि इनकी चर्चित फिल्में हैं।ज्ञात हो कि बिहार सिने आर्टिस्ट एसोसिएशन एवम राष्ट्रकवि दिनकर फिल्मसिटी बिहार में फ़िल्म इंडस्ट्री को बढ़ावा देने को सतत प्रयत्नशील है और इस बैनर के तले कई लघु व फीचर फिल्मों का निर्माण कर बिहार के सैंकड़ों प्रतिभाओं को आगे बढ़ने का अवसर दिया गया है।
अनूप नारायण
04.07.2018