Breaking News

विशेष : लिख कर लिखिए अपनी तक़दीर

रिपोर्ट :- [जमुई | रवि मिश्रा]  :-
हमारे मन में रोज हज़ारों विचार पनपते हैं। किसी की छुप जाती है और किसी की छप जाती है,जिसकी छपती है उसका ही नाम होता है, छुपा लेने वालों की कहाँ पहचान होती है।
आपके विचार ही शब्द बनते हैं और इन्हीं शब्दों से बनता है - "एक इतिहास". वह इतिहास जहाँ आप एक साथ कई चरित्रों को अपने आप में समेटते हैं,लोगों को जीना सिखाते हैं. हँसते को रुलाते हैं रुलाकर हँसाते हैं, हारे को जीतने की उम्मीद जागते हैं और ये सब होता है आपके कलम की ताक़त से।
अगर आपमें भी है लिखने की कला,अपनी बातों को साहित्यिक ढंग से लोगों तक पहुँचाने का हुनर तो आपके लिए एक बड़ा सा अवसर हाथ फैलाए खड़ा है,अपनी इस कला को दीजिये इनको एक मुकाम और बनाइये अपना करियर राइटिंग के क्षेत्र में।
आज हम इस रिपोर्ट में आप पढ़ेंगे :-
1).  कैसे आप अपने थॉट को वर्ल्ड वाइड एक्सचेंज कर सकते हैं ?
2). कौन कौन से आप अपना भविष्य बना सकते हैं ?
3). इसमें किस तरह के कैरियर हैं ?
चेतन भगत,सलमान रश्दी,विक्रम सेठ, खुशवंत सिंह, नरेंद्र कोली, झुंपा लाहिड़ी जैसे प्रसिद्ध नामों को तो आपने सुना ही होगा ये अपने विचारों से अपने लेखन के जादू से सबको अपना दीवाना बना लिया है। ऐसे ही विचार जब दुनिया को आपसे मिलाती है इसे ही थॉट वीवर्स कहते हैं।
[प्रोफेशनल राइटर्स यहाँ बना बना सकते हैं अपना करियर]
नए दौर में युवाओं का लिखने का शौक़ को एक नया दिशा दिया है,जो युवाओं के बीच खासा लोकप्रिय हो रहा है। युवा अपने लिखने के बदौलत इन जगहों पर अपना करियर सवांर सकते हैं -
1. क्रिएटिव राइटिंग
2. आर्टिकल राइटिंग
3. कंटेंट राइटिंग
4. कॉपी एडिटिंग
5. ट्रैवल राइटिंग
6. टेक्निकल राइटिंग
7. स्क्रिप्ट राइटिंग
8. साहित्य लेखन
        इत्यादि में अपना भाग्य आजमा सकते हैं,जिसमें युवाओं की डिमांड दिन ब दिन बढ़ती जा रही है।
[क्रिएटिव राइटिंग से रचें रोचकता]
पहले के ज़माने में लोग अपनी शौक पूरा करने के लिए लिखते थे, मगर आज इसे प्रोफेशन के तौर पर अपने  करियर को एक नया आयाम दे रहे हैं।
इस फील्ड में आपको लिखने की पूरी आज़ादी होती है,आपमें अगर रचनात्मक लेखन की कला है तो आप फ़िल्म,ड्रामा,फ़िक्शन,नॉन-फिक्शन,बॉयोग्राफी(जीवनी), समालोचना,फ्रीलांसिंग में अपनी पहचान और करियर बना सकते हैं।
आर्टिकल राइटिंग :-
आर्टीकल राइटिंग उस विधा को कहते हैं जिसमें लेख के माध्यम से जानकारी को रचनात्मक ढंग से रखा जाता है।आर्टिकल से लोगों को विशेषज्ञों की राय के साथ ही ज्ञान को बढ़ाने का एक विकल्प मिलता है। एक अच्छा आर्टिकल राइटर वही बन सकता है, जो जिस क्षेत्र में लिखता है उसका अच्छा जानकर हो और आंकड़ों के साथ अपनी बात रखने की कला जानता हो।
कंटेंट राइटर :- आज के दौर में इंटरनेट लोगों के जीवन का एक अहम् हिस्सा हो गया है,जो लोगों को कम समय में अपनी बात को रखने का एक अच्छा माध्यम मुहैया कराया है। आज न्यूज़ पेपर की जगह वेब पोर्टल लेती जा रही है, जहाँ वेब पत्रकारों के रूप में कंटेंट राइटर की माँग बढ़ी है।
भाषायी ज्ञान और वर्तनी पर मजबूत पकड़ आपको कंटेंट राइटर के तौर पर आपकी पहचान दिला सकती है। वहीं अच्छी खासी सैलेरी भी आपको मिलती है।
कॉपी एडिटर-:  पिछले कुछ वर्षों में मीडिया सेक्टर में ज़बरदस्त क्रांति आई है जो,अख़बार,मैग्जीन्स,पी. आर.ऐजेंसी, विज्ञापन एजेंसी,न्यूज़ चैनल्स,वेब पोर्टल्स आदि में कॉपी एडिटर्स के रूप में एक नया अवसर दिया है। इसमें आपको खबरों की पहचान कर,उसे एडिट करने का गुण होना चाहिए, अगर आपको आम भाषा को रोचकता का पुट देकर ख़ास बनाना आता हो तो ये सेक्टर आपके लिए परफेक्ट है।
ट्रेवल राइटिंग :- घूमना-फिरना हर इंसान को अच्छा लगता है।  मगर जानकारी के आभाव में वे कुछ जगहों को घूमना भूल जाते हैं। इसी गलतियों को ख़तम करने के लिए आज टूरिज्म विभाग और पर्यटन क्षेत्र में ट्रैवल राइटिंग का ट्रेंड्ज़ चला है, जिसमें आप उन जगहों के बारे में लिख कर उस जगह की रोचकता को और भी आकर्षित बनाते हैं जिसे ट्रैवेलॉग के नाम से भी जानते हैं।  यह एक बेहद रोचक सेक्टर है अगर आप भी घूमने फिरने वाला नौकरी करना चाहते हैं तो ये सेक्टर आपको काफी रास आएगा।
टेक्निकल राइटिंग :-
इस क्षेत्र में वैसे तो टेक्निकल बैकग्राउंड वालों को प्राथमिकता दी जाती है।  एक अनुमान के मुताबिक इस क्षेत्र में काम करने वालों में 70 फीसदी लोग तकनीक के जानकर ही इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं, लेकिन अगर आप भी तकनीक के जानकर हैं और तकनीकी ढंग से लिखना जानते हैं तो ये क्षेत्र आपके लिए भी है।  यहाँ साइंस और टेक्नोलॉजी की बातों को लिखकर लोगों के सामने रोचक ढंग से पेश किया जाता है। अख़बारों,पत्रिकाओं, वेबसाइटों पर इस तरह के कंटेंट की खासी डिमांड है।
स्क्रिप्ट राइटिंग :- कलात्मक एवं साहित्यिक ढंग से अपने मन की बात को लिखना अगर आपको आता है तो आप स्क्रिप्ट राइटर के तौर पर फ़िल्म,मीडिया,प्रोडक्शन हॉउसेस,स्वतंत्र लेखन इत्यादि के तौर पर अपना भविष्य बना सकते हैं। इसमें आपको किसी चीज को इमैजिन करके उसे विसुअलाइज करना आना चाहिए।
योग्यता :- इस क्षेत्र में आने वालों को लिखने के साथ साथ,शब्दों को पिरोने का सही ज्ञान होना चाहिए। कम शब्दों में अपनी बातों को रखना आना चाहिए,साथ ही व्याकरण अशुद्धियों  की समझ और उसे सही रूप में लिखने की कला होनी चाहिए। उर्दू के शब्दों का ज्ञान अगर है तो लेखन में अलग पहचान मिल सकती है।
इस क्षेत्र में पढ़ाई की कोई अहर्ता मायने नहीं रखती फिर भी अगर स्नातक हैं तो अवसर के दरवाज़े खुलने का मौका ज्यादा होता है।