Breaking News

आलेख : क्या आपको पर्यावरण की चिन्ता है ?

        ['कनक' की कलम से] :-
  हम सभी चाहते हैं कि हमारा गाँव-शहर स्वच्छ रहे, हम सब स्वस्थ रहें लेकिन हम सिर्फ यह सोचकर ही रह जाते हैं । हमें सिर्फ पर्यावरण के लिए सोचना ही नहीं है बल्कि इसके लिए कुछ करना भी पड़ेगा। हमें आगे आना होगा, लोगों को जागरूक करना पड़ेगा, प्लास्टिक और धुएँ वाले वाहनों से होनेवाली हानियों से उन्हें अवगत करना होगा।

अगर आप दुकान या बाजार जाते हैं तो एक थैला अपने साथ रखें और जो भी सामान या सब्जियाँ खरीदें उसे अपने थैले में डाल लें। अगर ज्यादा जरूरी हो तो ही प्लास्टिक लें।
आज के दिनों में देखा जाए तो हम थोड़े दूर जाने के लिए भी मोटर वाहनों का सहारा लेते हैं, शायद हम भूल जाते हैं कि ऐसे करने से हमारी सेहत और पर्यावरण पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। प्लास्टिक और धुएँ से कैंसर जैसी लाइलाज बीमारियाँ जन्म लेती है। अगर आप अपने जीवन को या फिर आगे कि पीढ़ी को रोगों से मुक्त रखना चाहते हैं, तो कृपया  प्लास्टिक एवं धुएँ वाले वाहनों का कम उपयोग करें। प्लास्टिक और वाहनों के धुएँ से हमारे पर्यावरण और हम जीवों को काफी नुकसान पहुँचता है।         

तो आइए, हम सभी अपना एक कदम बढ़ाएं पर्यावरण को बचाने के लिए। प्लास्टिक को बिल्कुल ही बाय-बाय करें। थोड़ी दूरी के लिए मोटर वाहनों का उपयोग न कर पैदल चलें। इससे सेहत ठीक रहेगी।
हर विशेष अवसर और त्योहार पर एक वृक्ष लगाकर पर्यावरण को प्रदुषणमुक्त बनाने में अपना अहम योगदान दें।