Breaking News

अलीगंज : ईद में दिनभर चलता रहा गले मिलने का दौर

[gidhaur.com | अलीगंज(जमुई)] :- अहले सुबह मुस्लिम भाईयों ने ईदगाह पर नहा धोकर एक  साथ नमाज अदा किया। सुबह से ही छोटे -छोटे बच्चे नये परिधान में सजधजकर ईदगाह पहुंचकर बड़े बुजुर्ग एवं रोजेदार भाइयों एक साथ नमाज अदा किया, और एक दुसरे से गले मिलकर ईद की बधाईयां दी। मो. बेलाल ने बताया कि रमजान में रोजा रखकर नमाज अदा करने से बहुत सबाब मिलता है। उन्होंने ने कहा कि अल्लाह ने मुसलमानों पर रमजान का रोजा फर्ज किया है। इसी माह की 27वीं रात यानि सबे कद्र की रात को कुरान को धरती पर उतारा गया था। मो. नेहाल ने बताया कि प्रतिदिन नमाज अदा करना एवं कुरान शरीफ की तिलावत करना ही इबादत है। साथ ही इफतार के वक्त एक साथ रोजा करना चाहिए। गरीब यतीम को हर संभव मदद करना चाहिए। बुढा लाचार व्यक्ति किसी कारणवश रोजा नहीं रखता है तो एक रोजे के लिए दिनभर के खाने का अनाज गरीबों में उन्हें बांट देना चाहिए। अल्लाह का हुक्म है। रोजेदारों को ईद के चाँद को देखने के बाद ही पहले सदका-ए -फितर अदा करना चाहिए।
शनिवार को प्रखंड के आढा,चंद्रदीप,सेवे,ईचोढ, डाढ़,दीननगर,मिर्जागंज,अलीगंज,दरखा ,इस्लामनगर सहित दर्जनों मुस्लिम गांव के ईदगाह मैदान में अहले सुबह नमाज अदा किया गया। वहीं लोग एक दुसरे से गले मिलकर ,दोस्तो ,सगे,संबंधियों के साथ सेवई,लछी,दुध एवं स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद चखा और ईद में दिनभर एक दूसरे से गले मिलने का दौर चलता रहा ।

(चन्द्रशेखर सिंह)
अलीगंज |  16/6/2018, शनिवार
www.gidhaur.com