Breaking News

किसानों को उचित सम्मान और हक के लिए लोजपा संकल्पित : रितेश

[gidhaur.com | पटना] :- बिहार के राजनीतिक परिदृश्य में आजकल सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। विपक्षी लोग अपनी ताकत बटोरने में लगे हैं परंतु उतना नहीं जितना वह अटकलें लगाने में व्यस्त हैं कि एनडीए गठबंधन में कौन टूट रहा है कौन जुट रहा है । स्पष्ट हो चुका है कि एनडीए गठबंधन अटूट है किसी भी प्रकार की संभावनाएं गलत साबित होंगे। रही बात सीटों के बंटवारे की तो यह स्पष्ट कहा जा सकता है कि वे लोग अपना व्यवस्था देख ले क्योंकि महागठबंधन वालों के लिए एक बड़ा भाई छोड़कर बाकी लोगों के लिए दिल्ली दूर है।
gidhaur.com को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर उक्त बातें लोजपा किसान प्रकोष्ठ बिहार के प्रदेश उपाध्यक्ष रितेश सिंह ने कही। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में जो परिणाम अभी मिले हैं, बिहार में उससे महागठबंधन को बहुत खुश नहीं होना चाहिए क्योंकि लोकसभा चुनाव में और उपचुनाव में बहुत अंतर होता है, बिहार में महागठबंधन में कुछ ऐसे नेता है जो अक्सर सामंतवादी शब्द का प्रयोग करते हैं मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि उनकी नजर में सामंतवादी का मतलब क्या होता है ? पार्टियों को धर्म और जाति के नाम पर वोट बैंक जुटाने का काम करते हैं यह लोग।  ऐसे नेता अवसरवादी होते हैं उनकी डायरी में दलित महादलित पिछड़ा अति पिछड़ा सामंतवादी मनुवादी नौकरशाह ऐसे शब्द होते हैं। वह लोग कभी धर्म के नाम पर कभी जाति के नाम पर कभी संप्रदाय के नाम पर वोट मांगते हैं, मैं बिहार के जनता से गुजारिश करता हूं कि लोग स्पष्ट करें कि कौन पार्टी किस जाति के लिए किस धर्म के लिए बनी हुई है पहले पार्टियां तय करें कि स्वर्णों की पार्टी कौन है दलितों की पार्टी कौन है गरीबों की पार्टी कौन है और अमीरों की पार्टी कौन है लोग भारतीयता का इंसानियत का धूम करना छोड़ दें स्पष्ट नीति और स्पष्ट विचारधारा से समाज में सामने आए। हो सकता है मेरा कहना बहुत सारे लोगों को अच्छा नहीं लगे लेकिन मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि मैं जिस दिन राजनीति में आया था यही सोच कर आया था बिहार का हर किसान और हर नौजवान अपने उचित अधिकार को प्राप्त कर सकें उचित सुविधाओं का लाभ उठा सके चाहे वह किसी भी जाति का हो किसी भी धर्म का हो या किसी भी संप्रदाय का हो मेरे लिए यह मायने नहीं रखता है लेकिन नौजवानों और किसानों के लिए मेरा प्रयास मेरी लड़ाई निरंतर जारी रहेगी सरकार हमारी हो या सरकार विपक्ष की हो जो नौजवानों और किसानों के हित की बात करेगा वही हमारा पार्टी है वही लोग हमारे लोग हैं।
हमारी पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी ने स्पष्ट कर दिया है कि बिहार में महिलाओं नौजवानों और किसानों को उचित सम्मान और उचित हक के लिए अपनी लड़ाई लगातार जारी रखेंगे। हम जात धर्म और संप्रदाय का नाम लेकर समाज को बांटने का काम नहीं करेंगे।

                (न्यूज डेस्क)
www.gidhaur.com | 06/06/2018, बुधवार