Breaking News

बांका : यज्ञ समाप्त, भक्ति की रसधारा में श्रद्धालुओं ने लगाए गोते

[gidhaur.com | बांका] :-  जिले के बाराहाट प्रखंड अंतगर्त राजघाट स्थित बसौनी मोड़ के समीप चल रहे श्री मद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के अंतिम दिन कथा स्थल पर मंदरांचल के प्रसिद्ध कथा वाचक रविकिशोर जी ने श्रद्धालुओं से कहा की अहंकार ही मनुष्यों के जीवन के विनाश का कारण बनता है। परमात्मा के रूप अनेक है, सिर्फ उसे अपने अंदर की आत्मा से महसूस करने की जरूरत है । वहीं कथा वाचक ने भक्त जनों को कहा की आज तक पवन पुत्र वीर हनुमान जैसा बलशाली व बुद्धिमानी धरती पर पैदा नही हुए है । यहीं कारण है, की आज भी हर जगह संकट मोचन वीर हनुमान जी पूजे जाते हैं। कथा के दौरान प्रसिद्ध भजन गायक के द्वारा सुंदर भजनों को सुनकर श्रद्धालू गण आनंद विभोर हो रहे थे।आसपास के इलाके से दर्जनों की संख्या मे भक्तजन कथा स्थल पहुँच कर कथा श्रवण का आनंद ले रहे थे| कथा स्थल पर राधे राधे की गूँज ध्वनि से पूरे वातावरण भक्ति मय हो गया था। वहीं कथा समिति के द्वारा हवण यज्ञ का भी कार्यक्रम कराया गया। वही पंडितो के वैदिक मंत्रोच्चारण सेकथा स्थल भक्तिमय हो गया था। ऐसा लग रहा था कि सभी भक्त जन भक्ति की सागर मे डूब गये थे ।
श्रद्धालुओं को प्रसाद के रूप में खीर भोजन कराये गये । इस आयोजन को सफल बनाने के लिए ग्रामीण सक्रिय थे।
(रूपेश कुमार राजा)
बांका | 07/06/2018, गुरूवार
www.gidhaur.com