Breaking News

बांका : शंभुगंज के प्रमुख व उपप्रमुख पर अविश्वास प्रस्ताव लगाने को लेकर सियासी सरगर्मी तेज

[gidhaur.com | शंभूगंज(बांका)] :- जिले के शंभुगंज प्रखंड में प्रखंड प्रमुख व उपप्रमुख के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव लगाने को लेकर राजनीतिक सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का कार्यकाल 28 जून को 2 वर्ष पुरा होने को हैै।
जिसके पूर्व त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पंचायत से चुनकर आये पंचायत प्रतिनिधियो ने भी दलीय आधार पर राजनीत गोटी सेट कर प्रखंड प्रमुख व उपप्रमुख के कुर्सी पर राजद ने अपना कब्जा जमा लिया था। उस वक्त बिहार में नीतीश कुमार के जदयू व लालू प्रसाद यादव के राजद गठबंधन के असर से शंभूगंज प्रखंड में प्रमुख पद सामान्य रहते हुए भी प्रमुख पद पर मिर्जापुर पंचायत के पंसस स्वेता देवी निर्विरोध निर्वाचित हो गई थी । जबकि उपप्रमुख पद पर मो. शकील अहमद ने दाबादेरी कर कब्जा जमा लिया था, लेकिन जदयू व राजद के बीच गठबंधन टुटते ही प्रखंड के पंसस अपनी पार्टी राजनितिक की गरीमा बचाने के लिए भी अलग थलग पड़ गया। अब जबकि शंभूगंज में 23 पंचायत समिति सदस्य वाली त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का कार्यकाल दो वर्ष पुरा होने को है तो एक बार फिर शंभूगंज में प्रमुख स्वेता देवी व उपप्रमुख मो. शकील अहमद पर अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी में राजनीतिक सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। प्रमुख देवी व उपप्रमुख पर अविश्वास प्रस्ताव लाने को लेकर के पंसस के बीच सह मात का खेल भी शुरू हो गया है । करीब आधा दर्जन दलित व महादलित पंसस को अविश्वास प्रस्ताव लगाने के पूर्व ही घर से उठाकर भुमीगत कर दिया गया है । जो यहाँ चर्चा का बिषय बना हुआ है । अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी में जुटे पौकरी पंचायत के पंसस ब्रह्मप्रकाश सिंह ने बताया कि प्रमुख स्वेता देवी के कार्य से असंतुष्ट चल रहे पंसस ने समय के मांग पर अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहा है । लेकिन अभी कुछ भी कहना जल्दीबाजी होगा । इधर शंभुगंज प्रखंड प्रमुख श्वेता देवी ने बताई कि उनके कुर्सी पर कोई संकट नही है । उनके साथ 20 पंसस है ।

(रूपेश कुमार राजा)
बांका | 12/06/2018, मंगलवार
www.gidhaur.com