Breaking News

जन-जागरण का केन्द्र है निरोगधाम

Gidhaur.com:(पटना):- राजधानी पटना से सटे 11किलोमीटर के दूरी पर पुनपुन नदी के तट पर अवस्थित ब्रह्म बाबा मंदिर अलावलपुर सैकड़ो गाँवो का आस्था का केन्द्र है।ब्रह्म बाबा सेवा एवं शोध संस्थान के संस्थापक सह संयोजक संजय कुमार सिंह ने बताया कि निरोगधाम ब्रह्म बाबा मंदिर... धर्मान्धता, अंधविश्वास, पाखंड, कुरुति, परंम्परा, रुढिबादिता के खिलाफ जन-जागरण का केन्द्र है।


इस मंदिर में सभी देवी, देवताओ की स्थापना बृक्ष के रुप में किया गया है।औषधिय पौधा से लैस ब्रह्म बाबा मंदिर श्रद्धालू भक्तो का आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।इस क्षेत्र का गौ पालक सैकड़ो बर्षो से मंदिर का भभूत लगाकर अपनी जानवर का ईलायज करते हैं, इसलिए इस मंदिर का नाम निरोगधाम रखा गया है।यहाँ का दर्शनीय बृक्ष कल्प बृक्ष है जिसकी वैज्ञानिक मान्यता है कि इस बृक्ष का उम्र छह हजार बर्ष आँका गया है, जिसके निचे साधना करने से आपकी मनोकामना पूर्ण होती है।धार्मिक मान्यता के अनुसार यह बृक्ष समुद्र मंथन से प्राप्त हुआ है।यहाँ के श्रद्धालु भक्त खीर और लिट्टी का प्रसाद चढाते है।बाबा की असीम अनुकम्पा से इस मंदिर का कोई चँदा और चढावा नही होता है,और इस मंदिर में न कोई पंडा और पूजारी है, फिर भी यह मंदिर अपने आप में व्यवस्थित है।इस मंदिर के आसपास तीन किलोमीटर में कोई गाँव नही है।चार सौ बर्षो से पगडंडियो के सहारे पहुँचकर बाबा का दर्शन करते थे, ब्रह्म बाबा की कृप्पा से सूवे बिहार के सभी सड़क मार्ग से यह मंदिर सड़क से जुड़ गया है।इस मंदिर में सूरज चन्द्र देव पुस्तकालय भी है और यहाँ से ब्रह्म ज्योति भी प्रकाशित होती है।ब्रह्म बाबा मंदिर में धर्मान्धता का कोई जगह नही ।
ब्रह्म भूमि यह जग कहलाता,
परारव्ध बस नर आ पाता ।।

अनूप नारायण
  (पटना)