Breaking News

चकाई के 7 विद्यालय हुए उत्क्रमित, पूर्व विधायक सुमित सिंह ने CM का जताया आभार

[gidhaur.com | न्यूज डेस्क] :- जदयू नेता सह पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि कि मेरे जैसे युवाओं ने एक दौरे में बिहार को लेकर बड़ी जिल्लत झेली है। लोग बिहार और बिहारियों की खिल्ली उड़ाया करते थे। यह किन महोदय की देन थी यह सबों को पता है। लेकिन वर्ष 2005 के नवंबर महीने की 26 तारीख से एक बड़ा बदलाव हुआ, बिहार के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर एक शख्सियत आसीन हुए। उसी दिन से बिहार को लेकर राय बदलने लगी। वह हैं CM मुख्यमंत्री नीतीश जी। जिस बिहार का पूरा बजट 2004-05 में 23,885 करोड़ रुपये था, वह आज बढ़कर 1लाख 76,990 करोड़ हो गया है। जो लगभग आठ गुणा बढा है।  आज कुछ उपचुनाव के आधार पर उन्हें खारिज़ करने का कुत्सित प्रयास हो रहा है। शायद उन लोगों को पता नहीं है कि नीतीश कुमार जी ऐसे परिणामों से घबड़ाने वाले नहीं हैं। 2009 के लोकसभा चुनाव के बाद कुछ उपचुनाव हुए थे, उसमें तब राजद और उसकी तत्कालीन सहयोगी लोजपा को थोड़ा फायदा हुआ था तो राजद-लोजपा के नेताओं ने नीतीश जी का 2010 में सफाया कर देने का बढ़ चढ़कर एलान करना शुरू कर दिया। 2010 में क्या हश्र हुआ था सबको पता है। जो आज विकल्प बनने को बेचैन हैं, उनको पता होना चाहिए कि जिनकी राजनीतिक विरासत पर आप काबिज हैं, उनका अंधेरा दौर कोई भूल सकता है क्या? उन पंद्रह सालों में बिहार का क्या हुआ था? शासन-प्रशासन में कोई कार्य संस्कृति भी थी क्या? किस तरह चारों ओर मुखेर कानून का बोलबाला था। बिहार उससे बहुत आगे निकल चुका है। नीतीश जी के नेतृत्व में समावेशी विकास का सार्थक प्रयास अनवरत जारी रहेगा।
रिलीज की गई विज्ञप्ति में  पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह ने माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि हमलोगों ने जिन मध्य विद्यालयों को उत्क्रमित उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में तब्दील करने का सुझाव दिया था, उसमें अधिकांश को उन्होंने मान लिया है। जमुई जिला के कुल 25 विद्यालयों को उत्क्रमित कर दिया गया है। इसमें 7 अपने चकाई विधानसभा क्षेत्र में है।

(अभिषेक कुमार झा)
03/06/2018,रविवार
www.gidhaur.com