Breaking News

"भारतीय सिनेमा में बिहार के योगदान" पर होगा स्मारिका का प्रकाशन

Gidhaur.com (बेगूसराय) : सरकारी उदासीनता के बावजूद बिहार में सिनेमा इंडस्ट्री का विकास होना यहाँ के कलाकारों के लगन, उत्साह व अपने कर्तव्य के प्रति ईमानदारी को परिलक्षित करता है। बिना कोई सरकारी मदद के बिहार के लगभग सभी जिलों में लगातार सिनेमाई गतिविधियां सक्रिय है और वे बिहार में फ़िल्म विकास के लिए सतत प्रयत्नशील है यह काबिले तारीफ बात है।

ये बातें बिहार सिने आर्टिस्ट एसोसिएशन के संयोजक  सह चर्चित बॉलीवुड अभिनेता अमित कश्यप ने राष्ट्रकवि दिनकर फिल्मसिटी के सभागार में एसोसिएशन की बैठक को संबोधित करते हुए कही।

श्री कश्यप ने कहा कि इस वर्ष फिल्मसिटी द्वारा "भारतीय सिनेमा में बिहार के योगदान" विषय पर एक स्मारिका का प्रकाशन होगा,जिसमें बिहार के सभी 38 जिलों से जुड़े उल्लेखनीय सिनेमाई कलाकारों का विवरण के साथ उनकी उलब्धियों का समावेश होगा और इसी वर्ष समारोह आयोजित कर उसका लोकार्पण किया जाएगा, जिसमें बिहार के मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, भारत सरकार के केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री आदि को आमंत्रित करने की योजना है।

उन्होंने कहा कि स्मारिका के संपादन की ज़िम्मेदारी वरिष्ठ साहित्यकार नरेंद्र कुमार सिंह को दी गयी है। उन्होंने कहा कि बिहार में इस तरह का यह पहला प्रयास है।

मौके पर उपस्थित एसोसिएशन के संरक्षक मिथिलांचल के प्रसिद्ध साहित्यकार चाँद मुसाफ़िर ने कहा कलाकारों द्वारा बिहार में अपने दम पर सिनेमा इंडस्ट्री को खड़ा करना असंभव को संभव करने वाला कदम है और इस प्रयास की जितनी प्रशंसा की जाय कम होगी।

उन्होंने यह भी कहा कि अब वह दिन दूर नहीं जब बिहार की प्रतिभा अपने यहाँ से भी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय क्षितिज पर अपना लोहा मनवा सकते हैं।

साहित्यकार नरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि बिहार में सिनेमाई क्रांति का सूत्रपात बेगूसराय से शुरू हो चुका है और अब ज़िले को देश स्तर पर इस क्षेत्र में सम्मान की दृष्टि से देखा जा रहा है।

मौके पर फ़िल्म निर्देशक सागर सिन्हा, शिक्षक नेता अमरेंद्र कुमार सिंह, राकेश महंथ, अरविंद पासवान, अजय अनंत, रंजीत गुप्त आदि थे।

बताते चलें कि विगत एक दशक से अमित कश्यप के प्रयास से बेगूसराय में सिनेमा के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति हो रही है और हिंदी,
भोजपुरी और मैथिली सहित लगभग एक दर्ज़न फिल्मों का निर्माण यहाँ हो चुका है।

अनूप नारायण
01/05/2018, मंगलवार