Breaking News

पहाड़ की तलहटियों पर बसे अलीगंज में स्वचछ पेयजल की किल्लत

[gidhaur.com | अलीगंज] :- पहाड़ की तलहटियों पर बसे अलीगंज प्रखंड में गर्मी के दस्तक देते ही पेयजल की किल्लत हो जाती है। साथ ही साथ प्रखंड अंतर्गत विभिन्न गांव के आहर पोखर,ताल तलैया आदि भी सुख जाते हैं। जिससे पेयजल के साथ-साथ पशुपालकों को पशुपालन करने में काफी कठिनाईयों का सामना करना करना पड़ता है। प्रखंड के अलीगंज ,कोदवरिया,कैयार,इस्लामनगर,अवगीला,कोलहाना,आढा,मिर्जागंज,मतबलबा,ईचोड,रामसागर,पलसा बुजुर्ग सहोडा,दीननगर,पुरसंडा पंचायतो में इन दिनों पेयजल की घोर किललत हो गई है।
लोजपा के प्रखंड अध्यक्ष बखोरी पासवान ने बताया कि प्रखंड के विभिन्न गावों में बने सैकड़ों चापाकल मरम्मत के अभाव खराब है। जेठ की तपिश बढ़ते ही अलीगंज प्रखंड में पेयजल की किललत हो जाती है।  पीएचईडी विभाग के दो मिस्त्री  प्रखंड में पदस्थापित है लेकिन चापाकल बनाने के सामग्री नहीं रहने के कारण चापाकल पानी  दे पाने में असमर्थ है।
राजद नेता मो. मंगरू ने बताया प्रखंड अधिकांश चापाकल मानक के अनुसार नही गाढ़ा गया है। कम गहराई व गुणवत्ताहीन उपकरण प्रयोग के कारण चापाकल खराब पड़ा है। 
इसी संदर्भ में स्थानीय निवासी दिनेश सिंह एवं प्रभुदयाल सिंह ने बताया कि बढ़ती गर्मी से पहाड़ की गोद में बसा हमारा प्रखंड, आज पेयजल की घोर समस्या से जूझ रहा है। लोजपा के प्रखंड अध्यक्ष जिला प्रशासन से प्रखंड खराब पड़े चापाकल को मरम्मत कराने की मांग किया है।
ताकि चिलचिलाती धूप की तपीश और असहनीय गर्मी से अलीगंज वासियों को निजात मिल सके।

(चन्द्रशेखर सिंह)
अलीगंज | 09/05/2018, बुधवार
www.gidhaur.com