Breaking News

सोनो : कलश यात्रा के साथ शुरू हुआ नौ दिवसीय शतचंडी महायज्ञ

Gidhaur.com (सोनो) : प्रखंड के ढोंढरी पंचायत में होने वाले नौ दिवसीय हवनात्मक शतचंडी महायज्ञ को लेकर गुरुवार को 1500 कुंवारी कन्या तथा महिलाओं ने अपने सिर पर कलश लेकर ढोंढरी गांव स्थित माता भगवती के प्रांगण से पिपराबांक, नैयाडिह, भरथपुर, खपरिया तथा चांदनटांड़ गांव के रास्ते तकरीबन 7 किलोमीटर दूर स्थित बरनार नदी के संगम तट से जल भरकर पुनः वापस यज्ञ स्थल पर पहुंची.

तत्पश्चात सोनो प्रखंड के प्रमुख गांवों में डुमरी गांव निवासी आचार्य मोतीलाल पांडेय, उपाचार्य इंद्रदेव पांडेय तथा विभिन्न स्थानों से आए दर्जनों विद्वान महात्माओं द्वारा विधि पुर्वक हवन-पुजन के साथ यज्ञ प्रारंभ किया गया. बृंदावन धाम से आये विद्वान पंडित शिवम् कुमार पाण्डेय एवं बनारस से आए अजय कुमार पाण्डेय ने संयुक्त रूप से बताया कि शतचंडी महायज्ञ से विश्व के समस्त जनो का कल्याण होता है तथा इस यज्ञ से केवल विश्व ही नहीं अपितु पुरे भुवन की रक्षा होती है.

उन्होंने कहा कि नौ दिवसीय शतचंडी महायज्ञ किसी एक समुदाय या किसी एक परिवार तथा किसी एक जाति का नहीं होता, जिस कारण यह सभी समुदायों की रक्षा करता है तथा लोगों में अध्यात्मिक चेतना का संचार होता है. डुमरी गांव निवासी विद्वान पंडित टुनटुन पांडेय ने बताया कि यज्ञोती श्रेष्ठत: कर्म: यानि यज्ञ से बढ़कर कोई श्रेष्ठ कर्म नहीं है. इस यज्ञ से स्वच्छ वातावरण एवं धन-धान्य में वृद्धि होती है तथा अति वृष्टि, ओला वृष्टि तथा उपद्रव की रक्षा होती है.
आचार्य श्री मोतीलाल पांडेय ने बताया कि शतचंडी महायज्ञ मातारानी की आराधना के लिए किया जाता है. इस यज्ञ में यजमान के रूप में कृष्णा ठाकुर एवं उनकी पत्नी शुभद्रा देवी तथा बद्री मंडल एवं उनकी पत्नी शामिल थी. यज्ञ के संचालक संजय कुमार मंडल ने बताया कि इस यज्ञ में होने वाली भीड़ को नियंत्रित करने के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है. जिसमें कुल एक सौ युवाओं को भोलेंटियर के रूप में तैयार किया गया है.

उन्होंने बताया कि यज्ञ के दौरान प्रतिदिन बृंदावन धाम से आये रास मंडली के द्वारा रासलीला का आयोजन तथा  13 अप्रैल को मुम्बई के सुप्रसिद्ध कलाकार सनि कुमार सान्या तथा भोजपुरी कलाकार खुशबू उत्तम के द्वारा भक्ति जागरण का आयोजन किया गया है. इस यज्ञ में बृंदावन, बनारस, देवघर तथा सोनो प्रखंड के प्रसिद्ध गांव डुमरी तथा महेश्वरी गांव के कई विद्वान पंडित शामिल रहेंगे.

इस कलश यात्रा को सफल बनाने के लिए जिलापार्षद प्रतिनिधि बलराम मंडल, झाझा के हड्डी स्पेस्लिस्ट डॉ. ओंकार बरनवाल, डॉ. ओमप्रकाश, ढोंढरी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि संजय कुमार मंडल एवं भुतपुर्व मुखिया रामदेव मंडल, उत्क्रमित मध्य विद्यालय ढोंढरी के प्रधानाध्यापक मो. इरशाद आलम, पैरा मटिहाना पंचायत के सरपंच मो. मकबुल अंशारी, समाज सेवी बमशंकर बरनवाल, आशुतोष कुमार सिन्हा एवं सदानंद मंडल तथा समिति के सदस्यों में अध्यक्ष अशोक कुशवाहा, सचिव भुवनेश्वर रजक तथा कोषाध्यक्ष संतोष कुमार सिन्हा के अलावा सैंकड़ों ग्रामीण शामिल थे.

यहां बताते चलें कि कलश यात्रा के दौरान सोनो-चकाई मुख्य मार्ग तकरीबन 2 घंटे तक बाधित रही जिस कारण सड़क के दोनों ओर वाहनों की कतार लगी रही. कलश लेकर गुजर रही महिलाओं के लिए रास्ते में पड़ने वाले सभी गांवों के प्रतिष्ठित लोगों के द्वारा शर्बत-पानी की व्यवस्था की गई थी.

चन्द्रदेव बरनवाल
सोनो     |     06/04/2018, शुक्रवार