Breaking News

झाझा : बजट के विरोध में निकला विरोध मार्च

Gidhaur.com (झाझा) : केंद्र सरकार द्वारा गुरुवार को पेश किये गए बजट के विरोध में शुक्रवार को झाझा शहर के दुर्गा मंदिर से मुख्य बाजार होते हुए विरोध मार्च निकाला गया।

बजट के विरोध प्रदर्शन मार्च का नेतृत्व कर रहे स्थानीय युवा गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता सूर्या वत्स ने कहा कि सरकार ने यह जन विरोधी बजट पेश किया हैं। इसमें मध्यम वर्ग, घरेलू महिला, बेरोजगार युवा, मध्यम वर्गीय कर्मचारियों, व्यापारियों एवं मजदूर वर्ग का ध्यान नहीं रखा गया है। सरकार को चार वर्षों के बाद किसानों का ध्यान आया है। लेकिन उनके लिए कोई सही रोड मैप नहीं तैयार किया गया है। युवा बेरोजगारों कि संख्या बढ़ते जा रही है। आये दिन बड़े-बड़े कम्पनी जो भी उत्पादन करते हैं उसका दाम बढ़ते जाता है। लेकिन किसान जो उत्पादन करते हैं उसका दाम नहीं बढ़ता। सब्जी, दुध, अनाज का दाम नहीं बढ़ता है।

मौके पर मौजूद नवयुवक संघ झाझा के संयोजक गौरव सिंह राठौर ने कहा कि बजट में सरकार ने निन्यानवे स्मार्ट सिटी बनाने की बात कही है। लेकिन विगत चार वर्षों में कितने स्मार्ट सिटी बने यह सब जानते हैं। यह बजट हास्यप्रद है।

मानवाधिकार जिला प्रभारी डॉ. शोभाकान्त ने कहा कि इस  बजट से गरीबी नहीं खत्म होगी बल्कि गरीब ही खत्म हो जायेंगे। वहीँ गिरजा प्रजापति ने कहा कि लोगों ने बड़ी उम्मीद के साथ भाजपा को बहुमत से जिताया था। इस सरकार से आमलोगों को कई उम्मीद थी, लेकिन इसके विपरीत हो रहा है। जाय सु राज प्रजा दुखारी, सो निप होय नरक अधिकारी।

इस कार्यक्रम में बसपा नेता मंगल दास, मैराज अंसारी, घनश्याम गुप्ता, अम्बेदकर विचार मंच के सचिव अरविंद कुमार, विरेन्द्र तुरी, राजेश विश्वकर्मा, विजय अग्रहरी, प्रदीप अग्रहरी के अलावा बड़ी संख्या में लोग मौजुद थे।

सुशांत साईं सुंदरम
02/02/2018, शुक्रवार