Breaking News

झाझा : राष्ट्रीय युवा दिवस पर सामाजिक कार्यकर्ता सूर्यावत्स द्वारा कार्यक्रम आयोजित

Gidhaur.com (न्यूज़ डेस्क) : शुक्रवार को झाझा के गाँधी चौक पर युवा सामाजिक कार्यकर्ता सूर्यावत्स द्वारा स्वामी विवेकानंद की जयंती राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं को नाकारात्मक सोच त्याग देना चाहिए एवं हमेशा साकारात्मक सोच को लेकर आगे बढ़ना चाहिए। युवाओं में आज जितना गुस्सा है वो सिर्फ असफलता के कारण हैं, जिससे नाकारात्मक सोच जन्म लेती है। मृत्यु तो निश्चित है। अच्छे काम के लिये मरना सबसे बेहतर है। 130 करोड़ की आबादी वाले देश में स्कूल स्तर से अनुशासन विषय अनिवार्य होना चाहिए।
सुबह जब आप लोगों का अभिवादन हल्की मुस्कुराहट के साथ करते हैं तो सामने वाले व्यक्ति में ऊर्जा का संचार होता है। कुछ युवा आज नशे की गिरफ्त में जा रहे हैं। स्वामी विवेकानंद के विचार, दर्शन और अध्यापन भारत की महान सांस्कृतिक और पारंपरिक संपत्ति है। युवा देश के महत्वपूर्ण अंग हैं, जो देश को आगे बढ़ाते हैं। इसी वजह से स्वामी विवेकानंद के आदर्शों और विचारों के द्वारा सबसे पहले युवाओं को चुना जाता है।
इसलिये, भारत के सम्माननीय युवाओं को प्रेरित करने और बढ़ावा देने के लिये हर वर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की शुरुआत हुई। कार्यक्रम को उत्साह पूर्वक मनाने के लिये स्कूल और कॉलेज को रुचिकर ढंग से सुसज्जित करते हैं।
स्वामी विवेकानंद एक महान इंसान थे जो हमेशा देश की ऐतिहासिक परंपरा को बनाने और नेतृत्व करने के लिये युवा शक्ति पर विश्वास करते थे और मानते थे कि विकसित होने के लिये देश के द्वारा कुछ उन्नति की जरुरत है।
इस कार्यक्रम में रमाकांत वर्णवाल, दिलीप कुमार, गोविन्द ठाकुर, बिट्टू चौरसिया, शिव साव, राजीव कुमार पिंटु, पूर्व मुखिया राजेश मोदी, पप्पु वर्णवाल, रंजीत माथुरी, विरेन्द्र चौरसिया, राजेश वर्णवाल, निवास वर्णवाल, डब्लु सिंह, कारु चौरसिया, रौशन मालाकार, रामदेव पासवान सहित कई अन्य लोग उपस्थित थे।
अपराजिता
Gidhaur.com      |    12/01/2018, शुक्रवार