Breaking News

बिहारशरीफ : अखंड पाठ संपन्न, 48 घंटे तक नहीं जला चूल्हा न किसी ने खाया नमक

Gidhaur.com (बिहारशरीफ) : बिहारशरीफ के राजा कुआँ गॉव स्थित सन्त बाबा की समाधि स्थल संत आश्रम में होने वाले अखंड पाठ का आगाज मंगलवार, 3 अक्टूबर की सुबह 8 बजे से हुआ जिसका समापन गुरुवार, 5 अक्टूबर की रात 8 बजे हुआ। इस दौरान राजा कुआं,पतुआना,नकटपुरा, मुरौरा, बिस्कुरबा, बसबनबिगहा गांव में अगले 48 घंटे तक न तो चूल्हा जला और न ही लोगों ने नमक का सेवन किया। सन्त बाबा को करीब से जानने वाले संत आश्रम सुरक्षा निर्माण समिति के अध्यक्ष डोमन यादव ने बताया कि 2002 की रात बाबा ने शरीर से प्राण त्यागा था। तब से लेकर हर वर्ष बाबा की समाधि पर मेला पूजा-पाठ प्रवचन होता चला आ रहा है। उन्होंने बताया कि बाबा में चमत्कारी शक्ति थी। उन्होंने कभी भी किसी से सेवा नहीं लिया।खुले आसमान में छाते के नीचे वे रहते थे।
आश्रम स्थित कुएं का पानी किसी अमृत से कम नहीं है। आज भी पानी का स्तर 15 फिट पर ही हैं। चाहे कितनी भी गर्मी पड़े पानी ठंडा व मीठा ही रहता है। ग्रामीणों का ऐसा मानना है कि सांप व बिच्छु काट लेने पर इस कुएं के पानी से स्नान करने व पीने मात्र से ही लोग ठीक हो जाते है। इस पूरे विधि के दरम्यान हुमाद व अगरबत्ती भी जलाया जाता है। डोमन गोप ने बताया कि बाबा को रामायण कंठस्थ याद रहता था। तीन दिनों तक रामायण का पाठ चलेगा। 48 घंटे तक लोग मीठा भोजन करते है। बाबा की समाधि पर जाकर जो लोग सच्चे मन से कुछ मांगता है उसकी मनोकामना जरूर पूरी होती है।

अनूप नारायण
Gidhaur.com      |      15/10/2017, रविवार