Breaking News

नयागांव : अपने निजी खर्च से युवा नेता राष्ट्र्दीप करवा रहे मंदिर का पुनर्निर्माण

Gidhaur.com (आस्था) : गिद्धौर प्रखंड के नयागांव स्थित मांझी टोला का विषहरी स्थान श्रद्धालुओं के लिए आस्था एवं विश्वास का केंद्र है। इस मंदिर के पुजारी सुखदेव मांझी के अनुसार यहां की विषहरी माता विषहरण के लिए विख्यात हैं। मान्यता है कि सर्पदंश से पीड़ित व्यक्ति भगवती विषहरी को चढ़ाया नीर पीकर विष के प्रभाव से मुक्त हो जाते हैं।
इस विषहरी मंदिर का जीर्णोद्धार स्थानीय निवासी एवं युवा लोजपा के प्रदेश महासचिव राष्ट्रदीप सिंह द्वारा अपने निजी खर्च से कराया जा रहा है। निर्माण कार्य लगातार जारी है। प्राचीन विषहरी स्थान के नवनिर्माण के लिए यहां के ग्रामीणों द्वारा श्रमदान किया जा रहा है। बिना किसी मजदूर के, युवाओं की टोली खुद मंदिर निर्माण के कार्य में लगी है।

बड़ी संख्या में यहाँ के ग्रामीण इस जिम्मेदारी को उठा रहे हैं। मंदिर निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद माता विषहरी का यह मंदिर लोगों के लिए आस्था का केंद्र होगा।
लोजपा के प्रदेश युवा महासचिव राष्ट्रदीप सिंह ने बताया कि स्थानीय लोगों के अलावा आसपास के क्षेत्र से भी लोग यहां पूजा अर्चना के लिए आते हैं। साथ ही सावन माह के नागपंचमी के दिन यहां विशेष पूजा अर्चना भी आयोजित होती है। माता विषहरी का यह मंदिर सैंकडों वर्ष पुराना है। मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए ग्रामीणों ने युवा नेता राष्ट्रदीप सिंह के प्रति आभार व्यक्त किया।

(अभिषेक कुमार झा)
Gidhaur.com    |    13/09/2017, बुधवार