Breaking News

जरूर पढ़ें, आजादी के पर्व पर मिलेनियम स्टार फाउंडेशन ने बांटी खुशियाँ

Gidhaur.com (विशेष) : वो युवा हैं, किशोर हैं, छात्र हैं, जूनून है उनमें समाज में यथासंभव अपना योगदान देने का। जोश है, कुछ नया करने का, जिससे समाज में गुजर-बसर कर रहे गरीब और उपेक्षित लोगों को उनके सहयोग से अंशमात्र भी लाभ मिल सके।

ये हैं गिद्धौर के युवाओं की सामाजिक संस्था मिलेनियम स्टार फाउंडेशन की टीम के सदस्य। ये सब हाशिये पर जी रहे लोगों के बीच खुशियाँ बांटते हैं। न इनके पास आय का कोई स्रोत है और न ही धनोपार्जन का कोई और जरिया। अपनी पॉकेटमनी बचाकर ये जरूरतमंदों के चेहरे पक़र मुस्कान बिखेरते हैं। 
गिद्धौर एवं इसके आसपास के क्षेत्रों में सामाजिक गतिविधियों में सक्रीय यह संस्था आपसी सहयोग के माध्यम से जरूरतमंदों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध करवाती है। लोगों से सहयोग इकट्ठे कर उन्हें गरीब तबके तक पहुँचाना इनका लक्ष्य है।

प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस का त्यौहार विभिन्न प्रतिष्ठानों में उल्लासपूर्वक समारोह आयोजित कर मनाया गया। लेकिन आजादी के इस पर्व पर कुछ ऐसा अलग हुआ जो आपको इन युवाओं की सोच को सलाम करने के लिए मजबूर कर देगा।
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मिलेनियम स्टार फाउंडेशन की टीम गिद्धौर प्रखंड के कोल्हुआ पंचायत अंतर्गत सिमरिया गांव पहुंची। लेकिन खाली हाथ नहीं। राष्ट्रीय त्यौहार के उपलक्ष्य में ढेर सारा तिरंगा झंडा और जलेबियाँ लेकर। वहां पहुँचते ही गाड़ी के आसपास दर्जनों बच्चे और कुछेक अभिभावक भी इकट्ठे हो गए।
इस टीम का नेतृत्व कर रहे थे मिलेनियम स्टार फाउंडेशन के संस्थापक-अध्यक्ष सुशान्त साईं सुन्दरम् और उनके साथ थे दीपक कुमार बर्णवाल, अभिषेक कुमार झा, वशिष्ठ कुमार, अक्षय कुमार, प्रिंस कुमार एवं अरविंद कुमार। गाड़ी से उतरते ही ग्रामीणों ने उनसे स्थानीय भाषा में सवाल किया कि आप सभी किधर आये हैं? जिसके जवाब में उन सभी को वहां आने का प्रयोजन बताया गया।
5 मिनट के भीतर ही दर्जनों बच्चे वहां इकट्ठे हो गए। जिन्हें फाउंडेशन के सदस्यों द्वारा अनुशासित तरीके से लाइन में खड़ा किया गया। इसके बाद फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री सुशान्त ने बच्चों से बातचीत की। तदोपरांत उन सभी के बीच जलेबियाँ और झंडे बांटे गए।
बच्चों के चेहरे पर ख़ुशी देखकर उनके अभिभावक और फाउंडेशन के सदस्य फूले न समा रहे थे। बच्चे तो उत्साहित होकर देशभक्ति के नारे भी लगा रहे थे। यह उन सभी के लिए एक नया अनुभव था। टीम के सदस्यों ने ग्रामीणों व महिलाओं से गांव की विभिन्न समस्याओं के सम्बन्ध में भी गम्भीरतापूर्वक जानकारी ली एवं फाउंडेशन के अध्यक्ष को इससे अवगत कराते हुए इसके समाधान का आश्वासन ग्रामीणों को दिया। करीब दो घंटों तक बच्चों से रूबरू होने के बाद टीम ने वहां से विदा ली। बच्चों एवं उनके माता-पिता ने हृदय से आभार प्रकट करते हुए सभी का शुक्रिया अदा किया और फिर से आने का न्यौता भी दिया।
मिलेनियम स्टार फाउंडेशन की टीम के सदस्यों ने गाड़ी में अपना स्थान ग्रहण किया और वहां से रवाना हुए। गाड़ी चल पड़ी। सभी के चेहरे पर एक अद्भुत संतुष्टि थी और मन गदगद था। एक सुकून था उस क्षण को याद कर जिसमें उन्होंने नौनिहालों के चेहरे पर मासूम मुस्कान बिखेरी थी। आपस में सभी ने बातचीत करते हुए इसे अपने जीवन का एक यादगार दिन बताया। उनका जोश कई गुणा बढ़ चुका था एक नई सोच को फलीभूत करने के लिए।

(अपराजिता)
गिद्धौर     |    19/09/2017, मंगलवार
www.gidhaur.com