Breaking News

दलितों के दर्द की दास्तां बयां करती है हिंदी फिल्म "चौहर"

Gidhaur.com (मनोरंजन) : बिहार की चर्चित लोक कथा "रेशमा-चौहरमल" के प्रेम प्रसंगों को आधार बना कर हिंदी फीचर फ़िल्म "चौहर" का निर्माण किया गया है। जिसके निर्माता बिहार के चर्चित व्यवसायी दिनकर भारद्वाज एवम् निर्देशक रघुवीर सिंह हैं। तत्कालीन समाज में व्याप्त दलितों के साथ दोहरे मानसिकता पर आधारित इस फ़िल्म की कहानी दलितों के देवता माने जाने वाले चौहरमल एवम् सवर्ण समाज से आने वाली रेशमा के बीच पनपे प्रेम के इर्द गिर्द घूमती है। जिसमें ज़मींदारों के सामंती सोच का शिकार हो चौहरमल अंत में रेशमा को प्राप्त करने में सफल होता है और समाज में सामाजिक समरसता का सन्देश देता है।
दिलचस्प बात यह है की अभी तक चौहरमल के शौर्य, पराक्रम एवम् वीरता के लिए उन्हें जाना जाता रहा है एवम् दलितों में देवता के रूप में पूजे भी जाते रहे हैं किन्तु पहली बार उनके प्रेम संबंधों की भी बातें सामने आने लगी है। जिससे निश्चित रूप से लोगों में कोताहल देखी जा रही है। बिहार के चर्चित मोकामा क्षेत्र के आस-पास की सत्य घटना पर आधारित कही जाने वाली इस कहानी को रूपक शरर ने तैयार किया है। तो मुख्य कलाकारों में महानायक अमिताभ बच्चन के साथ अभिनय कर चुके चर्चित बॉलीवुड अभिनेता अमित कश्यप, ऋचा दीक्षित, विवेकानंद झा, अमर ज्योति, दिनकर भारद्वाज, विजय सिंह पाल, रतनलाल, अरुण शांडिल्य, राकेश महंथ, बबलू आनंद, पंकज पराशर, अरविन्द पासवान, अजय अनंत आदि हैं।
बताते चलें की फ़िल्म का प्रदर्शन पुरे भारतवर्ष में अप्रैल महीने में किया गया किन्तु भारी विवाद एवम् उच्च न्यायालय में मामला दर्ज़ होने के कारण फ़िल्म का प्रदर्शन रोक दिया गया और अब पुनः अक्टूबर में प्रदर्शित किया जा रहा है। फ़िल्म को माननीय उच्च न्यायालय क्लीन चिट पहले ही दे चुकी है।

(अनूप नारायण)
Gidhaur.com      |       30/09/2017, शनिवार