Breaking News

गंगरा : सात दिवसीय स्वच्छता अभियान का हुआ समापन, युवाओं ने लिया हिस्सा


Gidhaur.com (न्यूज़ डेस्क) : गंगरा निवासी शिक्षक एवं सामाजिक कार्यकर्ता चुनचुन कुमार के नेतृत्व में बाबा कोकिलचंद धाम गंगरा में सात दिनों तक चलाये गए स्वच्छता अभियान का समापन शनिवार को हुआ। अभियान की शुरुआत बाबा कोकिलचंद मंदिर परिसर के गड्ढों में मिट्टी भरकर समतलीकरण कर किया गया।

इन सात दिनों में सडकों, गली-चौराहो के घास, ईंट-पत्थर आदि की सफाई करते हुए श्रीकंठ टोला, पांडेय टोला, रमाणी टोला, रजक-पासवान टोला, बेलौंचे हेंठटोला, बजरंगबली मंदिर, विषहरी मंदिर, आंगनबाड़ी केंद्र, गंगरा का मुख्य सडक एवं अन्य जगहों को बारी-बारी से प्रतिदिन प्रातः 6:30 से  8:30 बजे तक सफाई सह जागरुकता अभियान के तहत साफ़ किया गया। जिसमें दर्जनों युवा, बुजुर्ग एवं बच्चों द्वारा भाग लेकर प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के जन्मदिवस की बधाई के रुप में बाबा कोकिलचंद धाम गंगरा को स्वच्छ एवं निर्मल बनाने हेतु शपथ लेकर सात दिवसीय आभियान को सफलता पूर्वक पूरा किया गया।
अभियान के पांचवे दिन झाझा के युवा समाजसेवी सुर्यावत्स जी ने भी आकर सराहनीय सहयोग दिया।
अभियान के अंतिम दिन गाँव के सबसे वरिष्ठ नागरिक श्री किशुन सिंह (उम्र 101 वर्ष से अधिक) का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद प्राप्त करते हुए उनके स्वस्थ और लंबी उम्र की कामना की गई। 
शिक्षक एवं युवा सामजिक कार्यकर्ता चुनचुन जी के अनुसार गंगरा के साथ-साथ अन्य गाँवों पर भी इसका साकारात्मक प्रभाव पडता दिख रहा है। अभियान के शुरुआत में आलोचना और उपहास कर खिल्ली भी उड़ाई गई। लेकिन उनका कहना है कि इन सभी के बावजूद भी मैंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और आगे बढ़ता गया। बाबा कोकिलचंद के आशीर्वाद और सभी गांववालों के सहयोग से सात दिनों तक चलाये गए सफाई अभियान के माध्यम से समाजिक गंदगी को साफ करने में डटा रहा।
चुनचुन कुमार ने बताया कि इस अभियान में छोटे-छोटे बच्चों का सहयोग भी बहुत मिला। वहीं गांव के युवा साथियों ने जोश और जूनून के साथ स्वच्छता अभियान की जिम्मेवारी उठाते हुए यथासंभव श्रमदान किया। बुजुर्गों के आशीर्वाद और सुझाव के बदौलत गांव की सफाई के सपनों के धरातल पर उतरने में कामयाबी मिली, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है।

सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोगों ने इस अभियान की सराहना की एवं सभी युवाओं हौसला बढ़ाया। डीआईजी विकास वैभव, अखिल भारतीय भूमिहार ब्राहमण महासभा के राष्ट्रीय महासचिव ललितेश्वर कुमार, सीतामढ़ी मुखिया रीतू जयसवाल, कवि एवं गीतकार ज्योतिंद्र मिश्र, ई. शंभुशरण, मनीष पांडेय एवं कई बुद्धिजीवियों ने अभियान की प्रशंसा की। 
अभियान को  सफल बनाने में -गुंजन विवेका, गुड्डू कुमार, चंदन कुमार, निलेश कुमार, शिक्षक अरविंद कुमार, छोटे राहुल, अमित कुमार, शिव जी, विक्की कुमार, विजय पांडेय, कुंदन, गौतम मंगल, शिवेश पांडेय, सोहन पांडेय, दिग्विजय सिंह, रौशन पांडेय, विदुर पांडेय, रामु सिंह, शशी भुषण सिंह, गोपाल पांडेय, धनी राम, सोहेल अंसारी, बच्चन शर्मा, प्रमोद सिंह, पिंकू निरंजन, शुभम कुमार, अनिल सिंह सहित अन्य ग्रामीणों का योगदान रहा। 

(सुशान्त साईं सुन्दरम)
गिद्धौर     |      24/05/2017, रविवार
www.gidhaur.com