Breaking News

गिद्धौर में शिक्षक प्रशिक्षण केन्द्र का निर्माण शुरू, भूमि पूजन संपन्न

"गिद्धौर शिक्षा के क्षेत्र में दिनोंदिन आगे बढ़ रहा है। साईकिल से विद्यालय जाती लड़कियां और हर वर्ष मैट्रिक-इंटर परीक्षा में बेहतरीन रिजल्ट इस बात का प्रमाण है कि बच्चों के पढ़ने की ललक के आगे अभिभावक भी जागरूक होकर उन्हें विद्यालय जाने को प्रोत्साहित कर रहे हैं। लेकिन इन नौनिहालों को अच्छी शिक्षा तब मिल पाएगी जब उन्हें अच्छे शिक्षकों का साथ मिलेगा, और अच्छे शिक्षकों के लिए गिद्धौर में एक बीएड कॉलेज का होना समय की मांग है। हम गिद्धौर में जमीन उपलब्ध करवाएंगे यदि आप इस दिशा में विशेष ध्यान देकर शिक्षक प्रशिक्षण केन्द्र निर्माण करवाने की पहल करें।" 
वर्ष 2014 में 6 फ़रवरी को जब गिद्धौर स्थित महाराज चंद्रचूड़ विद्यामंदिर के हीरक जयंती कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया था तब कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रूप में गिद्धौर निवासी व बिहार सरकार के तत्कालीन भवन निर्माण मंत्री श्री दामोदर रावत ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व उद्घाटनकर्ता सूबे के तत्कालीन शिक्षा मंत्री श्री पी के शाही का गिद्धौर की धरती पर स्वागत करते हुए यह प्रस्ताव रखा था। जिसके जवाब में श्री शाही ने अपने भाषण के दौरान गिद्धौर की पावन धरा पर अपने आतिथ्य से अभिभूत होकर श्री रावत के प्रस्ताव को स्वीकारते हुए ततक्षण शिक्षक प्रशिक्षण केन्द्र खोले जाने की घोषणा की थी।
आज 21 मई 2017 को पूर्व मंत्री व जदयू प्रदेश उपाध्यक्ष दामोदर रावत द्वारा गिद्धौर में शिक्षक प्रशिक्षण केन्द्र निर्माण हेतु आवंटित जमीन का भूमि पूजन कर इस घोषणा को फलीभूत करने की दिशा में श्री गणेश किया गया। पूजनोपरांत उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में किये गए वादे को पूरा करने के लिए वो प्रयासरत थे। जमीन मिलने व सभी प्रक्रियाओं को पूरा करने की कार्रवाई में समय लग गया, लेकिन गिद्धौर में ही शिक्षक प्रशिक्षण केन्द्र खुल जाने से यहाँ के अभ्यर्थियों को सुविधा होगी। उन्होंने बताया कि इस टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज का निर्माण करीब 12.5 करोड़ की योजना राशि से किया जा रहा है। जिसमें प्रशासनिक भवन, कक्षाओं सहित महिला व पुरुष के लिए अलग-अलग छात्रावास की भी व्यवस्था होगी। इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार श्री अभय सिंह, समाजसेवी योगेंद्र रावत, जदयू के जिला महासचिव जयनंदन सिंह, कृष्णा रावत, युवा जदयू के प्रदेश महासचिव राजीव रावत सहित कई गणमान्य लोग व आम-जन उपस्थित थे।

(सुशान्त साईं सुन्दरम)
~गिद्धौर    |      21/05/2017, रविवार