Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2017

हमारे पाठक

आप इस पोर्टल पर अपना न्यूज़ लगवाने के लिए हमारे व्हाट्सएप नंबर - 9504036827 पर हमें भेज सकते हैं

विद्या मन्दिर के सत्य प्रकाश विज्ञान में एवं रिया कला में प्रखंड टाॅपर

वर्तमान परिदृश्य में बिहार के सरकारी विद्यालयों में गुणवत्ता पूर्वक पढ़ाई होने की बात अगर कही जाए तो एक पल के लिए विश्वास नहीं होता है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि आखिरकार 'सांच को आंच नाहि' वाली कहावत चरितार्थ हो जाती है। उक्त लोकोक्ति जमुई जिले के गिद्धौर स्थित महाराज चन्द्रचूड़ विद्या मन्दिर के बारे में एकदम सटीक बैठता है। मंगलवार को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा जारी रिजल्ट में इस विद्यालय के ही विज्ञान संकाय से सुबोध बर्णवाल के पुत्र सत्य प्रकाश ने एवं कला संकाय से परशुराम मिश्रा की पुत्री रिया कुमारी ने गिद्धौर प्रखंड में प्रथम स्थान प्राप्त कर यह साबित कर दिया कि संसाधनों के घोर अभाव में भी ऊँचा मुकाम पाया जा सकता है।
जानकारी देते चले कि मूलभूत सुविधाओं से वंचित गिद्धौर के महाराज चन्द्रचूड़ विद्या मंदिर में अध्ययनरत छात्र सत्य प्रकाश व छात्रा रिया कुमारी ने अपने परिश्रम के बलबूते इतने अच्छे अंक प्राप्त कर इस विद्यालय का नाम एक बार फिर से सुर्खियों मे ला दिया है। बता दें की विज्ञान संकाय के छात्र सत्य प्रकाश को 500 में से 359 अंक मिले हैं एवं रिया कुमारी को 500 में से …

इंटर परीक्षा के रिजल्ट पर बवाल, JEE क्वालीफाई बोर्ड में फेल

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा मंगलवार को जारी किये गए बारहवीं के रिजल्ट में विज्ञान संकाय में 30.11 प्रतिशत, कला में 37.16 प्रतिशत और वाणिज्य में 73.76 प्रतिशत परीक्षार्थी ही पास हुए हैं। परीक्षा में फेल हुए छात्रों ने बुधवार को इंटर काउन्सिल के कार्यालय पहुंचकर जबरदस्त हंगामा किया। मंगलवार को जारी किये गए रिजल्ट में करीब 65 प्रतिशत विद्यार्थी फेल हो गए हैं जिस वजह से ख़राब रिजल्ट वाले सभी विद्यार्थियों में आक्रोश व्याप्त है। छात्रों ने आरोप लगाया है कि काउन्सिल द्वारा उनके रिजल्ट में जान-बूझकर गड़बड़ी की गई है। कुछ ऐसे भी छात्र हैं जिनका JEE Mains तो क्वालीफाई हो चूका है लेकिन बारहवीं बोर्ड परीक्षा में फेल हो जाने से आगे की पढाई संभव नहीं हो पाएगी। विरोध प्रदर्शन करने वाले छात्रों में अधिकतर साइंस के हैं। इंटर काउन्सिल के बाहर हंगामा कर रहे छात्र इतने उग्र हो गए की उन्हें शांत कराने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। जिस वजह से कई छात्र घायल हुए हैं। थ्योरी और प्रैक्टिकल में गड़बड़ मार्क्स और सभी विषयों में पास होने के बावजूद रिमार्क्स में फेल कर दिए जाने से छात्र गुस्से में हैं। छ…

महिलाओं एवं युवाओं ने ली ग्राम ज्योति की सदस्यता

सामाजिक क्षेत्र में ग्राम ज्योति स्वयं सेवी संस्था के कार्यों को देखते हुए, गिद्धौर व सेवा इलाके के दर्जनों युवा एवं महिलाओं ने सदस्यता ग्रहण की। इसकी जानकारी संस्था की मुंगेर प्रमंडलीय समन्वयक एवं समाजसेविका अनीता मेहता उर्फ अनीता मंडल ने विज्ञप्ति संख्या 02/17 जारी कर के दी। उक्त विज्ञप्ति के अनुसार ग्राम ज्योति संस्था की अनीता मंडल की अगुवाई में वीरेन्द्र कुमार, पंचानन्द, हरिकिशोर, सुनील, ललिता देवी,  छोटा, चंद्रशेखर, सुनिता देवी सहित कुल 19 युवाओं व महिलाओं ने सदस्यता ग्रहण की। समाजसेविका अनिता मंडल ने सदस्यता ग्रहण करने वाले सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया एवं सामाजिक गतिविधियों में यथासंभव सहयोग करने की मांग की। ~गिद्धौर
31/05/2017, बुधवार

धर्म : गिद्धौर के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक है घनश्याम स्थान

गिद्वौर राज रियासत के चप्पे-चप्पे में ऐसे कई इतिहास खंड बिखरे हुए हैं, जो आज भी धर्म और आस्था के केन्द्र बने हैं। गिद्धौर के पंचमंदिर, दुर्गा मंदिर, माँ त्रिपुर सुंदरी मंदिर, गिद्धेश्वर मंदिर आदि के साथ लगभग 5 सौ वर्ष पुराना धार्मिक श्री श्री घनश्याम स्थान बाबा मंदिर आज भी इस इलाके के अलावे सुदूर ग्रामीण क्षेत्र के श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केन्द्र बना हुआ है। गिद्धौर प्रखंड के कोल्हुआ पंचायत अंतर्गत स्थापित घनश्याम बाबा आदि काल से पूजे जा रहे हैं। यहाँ पूजा के लिए सैकड़ों श्रद्धालुओं का प्रत्येक सोमवार एवं शुक्रवार को आने का सिलसिला अनवरत जारी है। 
बाबा घनश्याम के पिंडी स्वरुप की होती है पूजा मंदिर में बाबा घनश्याम का पिंडी स्वरूप आज भी वही है, जो पारंपरिक नियमानुसार मिट्टी का अस्तु बना हुआ है, जिसकी पूजा आज भी पौराणिक विधि के अनुसार की जाती है। श्रद्धालुओं का मानना है कि वहाँ जो भी जाकर अपनी मन्नते माँगा करते हैं वह अवश्य पूरी हो जाती है। जिसके कारण यह धर्म स्थल आज भी श्रद्धालुओं के लिए आस्था और विश्वास का केन्द्र बना हुआ है। इस मंदिर में दर्शन पूजन के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। दूध…

गिद्धौर में दवा दुकान बंद रहने से मरीज हुए परेशान

30 मई, मंगलवार को दवाओं के ऑनलाइन बिक्री के विरोध, फार्मासिस्ट एवं ड्रग लाइसेंस रिन्यूअल की परेशानी के अविलम्ब निदान तथा केंद्र द्वारा दवा क़ानून संशोधन में दवा विक्रेताओं पर विचार करने सहित छह सूत्री मांगों के समर्थन में ऑल इंडिया आर्गेनाईजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट द्वारा एक दिवसीय देशव्यापी बंद किया गया। इसका असर जमुई जिला सहित गिद्धौर बाजार में भी देखने को मिला। असोसिएशन के आह्वान पर गिद्धौर की सभी दवा दुकानें बंद रहीं। इस वजह से मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। 


~गिद्धौर       |       30/05/2017, मंगलवार 

जमुई की खुशबु बनी इंटर विज्ञान में राज्य टॉपर

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा बारहवीं के सभी संकायों का रिजल्ट आज जारी कर दिया गया। विज्ञान संकाय में जमुई की खुशबु कुमारी ने राज्यभर में टॉप किया है। खुशबु सिमुलतला आवासीय विद्यालय की छात्रा है। खुशबु को 500 में 431 अंक मिले हैं। 86.2 प्रतिशत अंक लाकर खुशबु ने विज्ञान संकाय में राज्यभर में अपना परचम लहरा दिया है। खुशबु का परिवार मूल रूप से औरंगाबाद के रहने वाले हैं। उनके पिता अभय कुमार बिजली विभाग में ऑपरेटर हैं एवं माता गृहिणी हैं। खुशबु ने अपने बेहतरीन रिजल्ट का श्रेय अपने माता-पिता और शिक्षकों को दिया है। उनका कहना है कि सिलेबस की अच्छे तरीके से पढ़ाई, सेल्फ स्टडी और मॉडल सेट से प्रैक्टिस द्वारा ही यह संभव हो पाया है। तनाव को उन्होंने अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और बिलकुल रिलैक्स होकर सभी पेपर लिखे। इसके साथ ही खुशबु ने JEE MAINS की परीक्षा क्रैक कर चुकी हैं और अब एडवांस के रिजल्ट का इन्तजार कर रही हैं। 

(खुशबु कुमारी का मार्कशीट)
(सुशान्त साईं सुन्दरम)~गिद्धौर       |       30/05/2017, मंगलवार 
www.gidhaur.blogspot.com


नयागांव में पुरानी सड़क, कीचड़ और गड्ढों से चलना मुश्किल

जहाँ एक ओर केंद्र एवं बिहार सरकार सड़कों का मकड़जाल फ़ैलाने व लोगों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने में प्रयासरत है वहीं गिद्धौर प्रखंड के अंतर्गत आने वाले कुंधुर ग्राम पंचायत के नयागांव में लोग कीचड़-गड्ढे वाले सड़क से गिरते-संभलते अपनी यात्रा करने को मजबूर हैं। इसी रास्ते से ग्रामीणों को ट्रेन पकड़ने चौरा रेलवे स्टेशन भी जाना पड़ता है। बच्चों के लिए मध्य विद्यालय नयागांव जाने का भी यह एकमात्र मुख्य रास्ता है। बरसात के दिनों में इस रास्ते में पानी जमा हो जाने के कारण सभी ग्रामवासियों को कीचड़ से होकर गुजरना पड़ता है। विशेषकर गर्भवती महिलाओं, बच्चों व वृद्धों को सर्वाधिक परेशानी झेलनी पड़ती है। गुगुलडीह मुख्यमार्ग पर स्थित पेट्रोल पम्प से 4-5 किलोमीटर की दूरी का एक सड़क चौरा रेलवे स्टेशन तक जाता है।
जिस रास्ते से होकर ही सभी गांववासी रेलवे स्टेशन जाते हैं। लेकिन अब यह सड़क गड्ढों व रोड़ों की वजह से इतना खतरनाक बन चुका है कि लोग भगवान का नाम लेते हुए इस रास्ते से सफर करने को मजबूर हैं। इस गांव में लगभग 300 घर की आबादी है। अक्सर ही विभिन्न जनप्रतिनिधियों का भी यहाँ आना-जाना होता है लेकिन अब तक किसी …

युवा जदयू का धरना कल जमुई में

सत्ता में आने के लिए प्रधानमंत्री मोदीजी ने देश के युवाओं को दिग्भ्रमित किया। उन्हें झूठे घोषणाओं से सब्जबाग दिखाए। बड़े-बड़े वादे और चुनावी जुमलों का इस्तेमाल कर युवा वर्ग को झांसा देते रहे। केंद्र सरकार के युवा विरोधी नीति के खिलाफ कल शनिवार को युवा जनता दल यूनाइटेड, जमुई जिला द्वारा एकदिवसीय धरना दिया जायेगा। उक्त आशय की जानकारी युवा जदयू के प्रदेश महासचिव राजीव रावत ने दी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार युवाओं के हित में व उन्हें रोजगार देने में असफल रही है। जिसके विरोध में जमुई स्थित अभय सिंह प्रतिमा स्थल पर युवा जदयू के जिलाध्यक्ष चन्दन कुमार के अगुवाई में सभी कार्यकर्त्ता शनिवार को दिन के 10 बजे से धरना देंगे।

~गिद्धौर
26/05/2017, शुक्रवार 

पति की दीर्घायु की कामना के साथ वट सावित्री पूजा संपन्न

जब तक दूर क्षितिज पर दिख रहे सूर्य ने पहाड़ियों के आंचल में छिपने की तैयारी शुरू नहीं की तब तक सौभाग्यवती, विवाहित, महिलाओं के अनुष्ठान महापर्व वट सावित्री पूजन जारी रहा। हमारे हिन्दु रीति-रिवाजानुसार, पति की दीर्घायु जीवन के लिए सुहागन महिलाएं वट सावित्री की पूजा एवं व्रत करती हैं। वट सावित्री व्रत चतुर्दशी अमावस्या के दिन मनाया जाता है। वटवृक्ष की आयु बहुत ही लंबी होने के साथ गर्मी के दिनों में शीतलता लोगों को प्रदान करती है। अत: उसी को निमित्त मानकर सावित्री, सत्यवान एवं यम की पूजा इस वट सावित्री व्रत में की जाती है। 
(गिद्धौर    |    अभिषेक कुमार झा) वट सावित्री व्रत को लेकर गिद्धौर बाजार में बुधवार से ही महिलाएँ इस भीषण गर्मी में भी अपने पति की दीर्घायु की कामना वाले व्रत के लिए 'तार का पंखा', सुहाग का सामान, फल-फूल आदि खरीददारी करती हुई उत्साहित दिखीं। इस व्रत से स्त्री के कर्तव्य, पति-प्रेम एवं दृढ इच्छाशक्ति से असंभव को संभव बनाने की शिक्षा मिलती है। कच्चे धागे से वृक्ष की परिक्रमा कर बांधा जाता है। चना, पकवान एवं फल आदि से इन देवों की पूजा की जाती है। प्रत्येक नारी इस व्…

ग्राम ज्योति संस्था ने चलाया स्वच्छता अभियान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत का सपना जब सिर्फ एक नारा बनकर जनता के जुबान तक ही सिमट जाए, तो फिर क्या स्त्री और क्या पुरुष...! लोगों का समर्थन मिलता रहता हैं और एक छोटा सा अभियान भी आन्दोलन मे परिवर्तित होने लगता है। कुछ दिन पहले, गिद्धौर थाना से लाॅर्ड मिन्टो टावर चौक तक कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला, जब ग्राम ज्योति स्वयं सेवी संस्था की मुंगेर प्रमंडलीय समन्वयक व समाजसेविका श्रीमती अनीता मंडल के नेतृत्व में स्वच्छ्ता अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अभियान के दौरान समाज सेविका अनीता मंडल ने गिद्धौर बाजार स्थित सावर्जनिक स्थल लार्ड मिंटो टावर परिसर, विभिन्न बैंकों के एटीएम परिसर व बाजार के इर्द-गिर्द अन्य जगहों पर जमे गंदगी व कचड़े को ही साफ नहीं किया बल्कि एक औरत होकर स्वच्छता के नारे लगाने एवं औरत को लाचार समझने वाले पुरुषों के मन के गलतफहमियों का भी सफाया किया। वहीं इस मौके पर समाजसेविका अनीता मंडल ने अपने विचार को साझा करते हुए बताया कि स्वच्छ्ता से ही स्वच्छ वातावरण एवं स्वच्छ समाज का निर्माण किया जा सकता है और इस कार्य को लेकर जब तक ग्रामीण स्तर से प्रयास नहीं…

उन्नति क्लासेज़ का नया बैच, फीस में 50% की छूट

गिद्धौर स्थित उन्नति क्लासेज़ शिक्षण संस्थान में आगामी 1 जून से इंग्लिश स्पोकन का नया बैच शुरू होने जा रहा है। जिसके लिए नामांकन जारी है। 31 मई तक नामांकन कराने वाले छात्र-छात्राओं को फीस में 50% की छूट दी जाएगी। नामांकन निःशुल्क है। उक्त आशय की जानकारी संस्थान की ऐकडेमिक हेड ई० मोनालिसा भारती ने दी। उन्होंने बताया कि इंग्लिश स्पोकन के साथ-साथ ग्रामर एवं सिलेबस की भी पढ़ाई करवाई जाएगी जिससे की विद्यार्थियों को विद्यालय की परीक्षाओं की भी तैयारी करने में सहूलियत हो। साथ ही साथ समय-समय पर गेस्ट फैकल्टीज के द्वारा भी स्पेशल क्लासेज़ दी जाएँगी। अधिक जानकारी एवं नामांकन हेतु छात्र-छात्राएं उन्नति क्लासेज़, गिद्धौर के कार्यालय आकर अथवा दूरभाष संख्या - 9852681895 पर संपर्क कर सकते हैं। 

~गिद्धौर 24/05/2017, बुधवार 

महिला-पुरुष शिक्षकों की आवश्यकता है

गिद्धौर के गंगरा स्थित संस्कार भारती पब्लिक स्कूल में महिला-पुरुष शिक्षकों की आवश्यकता है। शैक्षणिक योग्यता बारहवीं उत्तीर्ण से स्नातकोत्तर तक की है। अनुभवी अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। कार्य के आधार पर आकर्षक वेतन दिया जाएगा। गिद्धौर से बाहर के शिक्षकों को रहने-खाने एवं आने-जाने के लिए अलग से भुगतान किया जाएगा। इच्छुक महिला-पुरुष अपने सभी प्रमाण-पात्र एवं बायोडाटा के साथ विद्यालय कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं अथवा दूरभाष संख्या - 9572816242 या 9852681895 पर कॉल कर सकते हैं।

गिद्धौर : कभी नदी थी यहाँ, अब बना खेल मैदान

"बेटा आज जहाँ तुम क्रिकेट खेल रहे हो न, आज से कुछ वर्ष पूर्व यहां एक उलाई नदी हुआ करती। थी। जिसकी रेत को हमने और हमारी जरूरतों ने मिट्टी के रूप में प्रतिस्थापित कर दिया। और तुम्हें पता है, ये जो दुर्गा मन्दिर तुम देख रहे हो न,  गिद्धौर के इसी उलाई नदी मे स्नान कर हम सब दंडवत प्रणाम करते हुए माँ दुर्गा के चौखट तक जाते थे। उफ वो भी क्या दिन थे, जब चार बजे सुबह माता रानी के जगमग करते हुए द्वार की रोशनी इस जल पर पड़ती थी तो दृश्य मनोरम और हृदय प्रफुल्लित हो उठता था। इससे अच्छा तो वो चार दिन की चाँदनी थी, न जाने ये अंधेरी रात कहां से आ गयी ।"
अभी जहाँ नदी है, उसके किनारे क्रिकेट खेलते हुए यह वाकया उन नई पीढ़ियों को अपने माता-पिता से सुनने को मिलेगा। क्रिकेट की पीच से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि मेरा तात्पर्य नदियों पे रेत के खनन से उपजे हुए हरे घास धीरे-धीरे मैदान का रूप ले रही है, उससे है। मछली जल की रानी है, जीवन उसका पानी है, 'जल ही जीवन है' और 'पानी को बर्बादी से बचाएँ' जैसे लुभावने नारे तो सुनने और पढ़ने को तो बहुत मिलते हैं लेकिन कीमती जल को बचाने के प्रति न तो जन…

ईश्वर का दिया नायाब तोहफा हैं माता-पिता

हम इन्सानो ने भगवान को तो नहीं देखा पर ऐसा कहा जाता है कि, हमारे माता-पिता, ईश्वर की दी गई सबसे बेहतरीन और नायाब तोहफा है। माता-पिता द्वारा दिए गए संस्कार ही बच्चों यानि भावी युवाओं को, जो देश का भविष्य रचने वाले हैं, दिशा दे सकते हैं। परन्तु आज के इस तथाकथित, मोडर्न ज़माने में हम लोग अपने संस्कार और संस्कृति को बिल्कुल भूलते जा रहे हैं! आज के समय में बच्चों को सही राह दिखाने का भार स्कूल और शिक्षकों पर भी है। संयम, शील और सदाचार से युक्त शिक्षा ही कल्याण करने वाली है। कल्याण करने वाले ये तीनों सूत्रों का तार हमारे माता-पिता से जुड़ा होता है। एक संतान के जीवन में एक पिता का योगदान क्या होता है, इसका जवाब वही दे सकता है, जिस संतान का वजूद, उसके पिता के कारण बचा हो!
भले ही आज के नवयुवक माँ-बाप के संघर्ष को भूल जाए, लेकिन किसी भी संतान के लिए पिता द्वारा दिया दायित्व का निर्वाह आजीवन काल करना होता है। अगर आज की पीढ़ी अपने बुजुर्ग माता-पिता को अपने दिल और आशियानों में जगह देते तो शायद वृद्धाश्रम की संख्या मे बढ़ोतरी न होता।
आजकल के युवा पीढ़ी द्वारा अपने स्वार्थ के लिए माँ-बाप को वृद्धाश्रम का र…

शिक्षक संघ ने किया रमजान से पहले वेतन भुगतान की मांग

बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश सचिव सह जमुई जिला प्रभारी आनंद कौशल सिंह ने सोमवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि जमुई जिला शिक्षा पदाधिकारी रमजान के मद्देनजर जिले के प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत करीब छह हजार नियोजित शिक्षकों के बकाये वेतन का अविलम्ब भुगतान करना सुनिश्चित करें। ससमय वेतन का भुगतान नहीं किये जाने पर पदाधिकारी व सरकार के खिलाफ नियोजित शिक्षक सड़क पर उतरकर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि लाखों नियोजित शिक्षक नियमानुसार 14 साल से मासिक वेतन देने की मांग शिक्षा विभाग व सरकार से कर रहे हैं। लेकिन कुछ अधिकारी जानबूझ कर नियोजित शिक्षकों के बकाया वेतन का भुगतान करने में अड़ंगा लगाकर सरकार के खिलाफ हमें आंदोलन करने पर बाध्य कर रहे हैं।  आनंद कौशल ने सूबे के शिक्षामंत्री पर अपने अधिकारीयों पर नियंत्रण नहीं रख पाने व नियोजित शिक्षकों को मासिक वेतन देने में पूरी तरह विफल रहने का आरोप लगाते हुए उनसे मंत्री पद से त्यागपत्र देने की मांग की है। जानकारी के मुताबिक जिले के नवनियुक्त उर्दू शिक्षकों को 20 माह से, तीन प्रखंड के शिक्षकों को सात माह से एवं 5 हजा…

कचड़े में जीवन तलाशते ये बच्चे

"लोहा, टीना, प्लास्टिक, रद्दी कागज, दे दो"
आपके गली मे गूंजने वाली ये आवाज पर गौर कीजिएगा।
रद्दी, कूड़ा-कचड़ा चुनते कभी इन लोगों को देखिए, आँखे नम हो जाएंगी।
गिद्धौर स्थित त्रिपुर सुंदरी मंदिर व तालाब के पास झुग्गी-झोपड़ी मे रह रहे छोटे-छोटे बच्चे जब कचरो मे अपना जीवन तलाशते हैं तो सरकार के शैक्षिक रवैये का पर्दाफाश हो जाता है। हम जानते हैं कि पूरे विश्व में कचड़े को इकठ्ठा करना, फेंकना और उसे नष्ट करना एक सामान्य दैनिक कार्य है। आज कचड़े को नष्ट करना एक वैश्विक समस्या बन चुकी है। कचड़े के संग्रह व निबटारे के गलत तौर-तरीके के चलते ग्लोबल वार्मिंग में भी बढ़ोतरी हो रही है। विकसित और औद्योगिक देशों में कचड़े को परिष्कृत तरीके से नष्ट किया जाता है और दोबारा उपयोग के लायक बनाया जाता है।
कचड़े के इस काले पहाड़ पर बच्चों की सेना बड़ी खुशी से खेलती हुई नजर आती है। ये बच्चे कोई और नहीं बल्कि उन्हीं कचड़ा बीनने वालों की संतानें हैं। हालांकि, यह नजारा आपको जमुई के किसी भी प्रखंड में आसानी से दिख सकती है, गिद्धौर कोई बड़ी बात नहीं है। प्लास्टिक, कागज के गत्तों, टिन की चादरों, लकड़ियों, पॉलीथीन श…